LPG सिलेंडर उपभोक्ताओं को राहत, केंद्रीय मंत्री ने किया बड़ा ऐलान, जानें

ई दिल्‍ली । केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने करोड़ों एलपीजी सिलेंडर उपभोक्ताओं को रहात दी है। हरदीप सिंह पुरी ने स्पष्ट किया कि एलपीजी सिलेंडरों के लिए ईकेवाईसी करने की कोई समय सीमा नहीं है। उन्होंने कहा कि ऑयल मार्केटिंग कंपनियां फर्जी खातों को खत्म करने और कॉमर्शियल सिलेंडरों की धोखाधड़ी वाली बुकिंग को रोकने के लिए एलपीजी ग्राहकों के लिए ईकेवाईसी लागू कर रही हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पुरी की यह प्रतिक्रिया केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता वीडी सतीशन के एक पत्र के जवाब में आई।

सतीसन ने पत्र के जरिए कहा कि इसे संबंधित गैस एजेंसियों पर करने की आवश्यकता से नियमित एलपीजी धारकों को असुविधा होती है। पुरी ने स्पष्ट किया कि यह प्रक्रिया आठ महीने से अधिक समय से चल रही है और इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि केवल वास्तविक उपभोक्ताओं को ही एलपीजी सिलेंडर मिले।

कैसे हो रहा ईकेवाईसी

इस प्रक्रिया के बारे में बताते हुए पुरी ने कहा, “इस प्रक्रिया में एलपीजी डिलीवरी कर्मी ग्राहक को एलपीजी सिलेंडर वितरित करते समय क्रेडेंशियल सत्यापित करते हैं। डिलीवरी कर्मी अपने मोबाइल फोन पर एक ऐप के जरिए से ग्राहक के आधार क्रेडेंशियल कैप्चर करते हैं। ग्राहक को एक ओटीपी मिलता है, जिसका उपयोग प्रक्रिया को पूरा करने के लिए किया जाता है। ग्राहक अपनी सुविधानुसार वितरक शोरूम से भी संपर्क कर सकते हैं।”

ऐप इंस्टाल करें और खुद कर ले ईकेवाईसी

इसके अलावा एलपीजी उपभोक्ता आईओसी, एचपीसीएल जैसी कंपनियों के ऐप भी इंस्टॉल कर सकते हैं और अपने आप ई केवाईसी पूरा कर सकते हैं। पुरी ने कहा, “इसके अलावा, तेल कंपनियां ग्राहकों को आश्वस्त करने और यह सुनिश्चित करने के लिए इस मामले में प्रेस रिलीज भी जारी कर रही हैं कि किसी भी वास्तविक उपभोक्ता को कोई कठिनाई या असुविधा न हो।”

follow hindusthan samvad on :