कृषि विज्ञान केंद्र सिवनी में बनाया गया लाल अमाडी का जैम तथा कैंडी

सिवनी, 20 जनवरी। कृषि विज्ञान केंद्र सिवनी के तकनीकी पार्क में लगी लाल अमाडी फसल का भ्रमण एवं अवलोकन विगत दिवस केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक...

M.P.: 50 प्रतिशत से अधिक फसल नुकसान के लिये 30 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर दी जायेगी राहत-मुख्यमंत्री

आँखों में आंसू न लायें, ओलावृष्टि से नुकसान की भरपाई करेगी सरकार : मुख्यमंत्री श्री चौहान संकट में साथ देने के लिये ही बना हूँ...

45688 किसानों से अब तक 317753.248 मेट्रिक टन धान उपार्जित

सिवनी, 14 जनवरी।जिला आपूर्ति अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में 12 जनवरी तक 121 उपार्जन केंद्रों के माध्यम से 45688 पंजीकृत किसानों से...

M.P: 50 प्रतिशत से ज्यादा नुकसान जिन किसानों का हुआ है, उन्हें 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से राहत की राशि दी जाएगी -मुख्यमंत्री

भोपाल, 14 जनवरी। 50 प्रतिशत से ज्यादा नुकसान जिन किसानों का हुआ है, उन्हें 30 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से राहत की राशि...

कृषि विज्ञान केन्‍द्र एवं कृषि विभाग सिवनी अनुसार विगत दिनों हुई वर्षा से होगा रबी फसलों को फायदा

सिवनी, 13 जनवरी। उपसंचालक कृषि ने बताया कि जिले में रबी फसलों की बोनी लगभग 3 लाख 46 हजार हेक्‍टेयर में की जाती है जिसमें...

फसल क्षति की जानकारी बीमा कंपनी के टोल फ्री नं. में दे सकते हैं कृषक

सिवनी, 13 जनवरी। जिले में विगत दिवसों में हुई असामयिक वर्षा के दौरान अतिवर्षा / ओलावृष्टि से प्रभावित ग्रामों में विस्तृत सर्वेक्षण का कार्य राजस्व...

वास्तविक क्षति का आंकलन कर शीघ्र रिपोर्ट प्रस्तुत करने के मैदानी अमले को दिए निर्देश

ओलावृष्टि प्रभावी ग्रामों का कलेक्टर ने किया निरीक्षण सिवनी, 13 जनवरी। कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग ने गुरुवार 13 जनवरी को सिवनी, कुरई के विभिन्न...

सिवनी: ओलों की मार से खेतों में बिछ गई गेहूं की फसल

सिवनी, 11 जनवरी (हि.स.)। जिले के कुरई, बरघाट, सिवनी, केवलारी आदि विकासखंडों में मंगलवार दोपहर बाद ओलावृष्टि हुई। ओलों की परत खेतों में बिछ गई,...

जिले में 7 से 9 जनवरी के बीच आकस्मिक वर्षा की सम्भावना

सिवनी, 05 जनवरी।खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य पर धान का उपार्जन अवधि आगामी 15 जनवरी 2022 तक किया जाना है। वर्तमान में प्रदेश...

जिले में उर्वरकों की उपलब्‍धता की स्थिति

सिवनी, 04 जनवरी। जिले में रबी फसलों की बोनी का कार्य समाप्ति की ओर है। कृषकों द्वारा रबी में मुख्‍यत: गेहूँ, चना, मसूर, सरसों, अलसी...
error: Content is protected !!