कल पीएम मोदी देशभर के कई रेलवे परियोजनाओं की देंगे सौगात, 10 नई वंदे भारत ट्रेनों के परिचालन का शुभारंभ

नई दिल्‍ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल यानी 12 मार्च (मंगलवार) को देशभर में एक साथ 85 हजार करोड़ रुपये लागत की लगभग 6000 परियोजना का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री मोदी देश के विभिन्न स्टेशनों के मध्य 10 नई सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेनों के परिचालन का शुभारंभ, 4 वंदे भारत एक्सप्रेस का मार्ग विस्तार और 2 अन्य रेल सेवाओं को हरी झंडी भी दिखाएंगे।

इन परियोजनाओं का होगा शिलान्यास और लोकार्पण

> पीएम मोदी अहमदाबाद में आयोजित कार्यक्रम के दौरान 6558 करोड़ की लागत वाली 19 रेलवे वर्कशॉप, लोको शेड, पिट लाईन/कोचिंग डिपो, फलटण-बारामती नई रेल लाईन और इलेक्ट्रिक ट्रैक्सन सिस्टम के अपग्रेडेशन कार्य का शिलान्यास करेंगे। इसी के साथ ही वे डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के न्यू खुर्जा से साहनेवाल सेक्शन, न्यू मकरपुरा से न्यू घोलवड सेक्शन और वेस्टर्न डीएफसी के ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

> प्रधानमंत्री मोदी 20,744 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 1500 किलोमीटर रेलखंड के दोहरीकरण/मल्टी ट्रैकिंग और आमान परिवर्तन, 2400 करोड़ रुपये की लागत से बने विद्युतीकृत 2135 किलोमीटर के रेलखंड को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। पीएम 280 करोड़ की लागत वाली वेस्टर्न डीएफसी ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर एवं 2763 करोड़ रुपये की लागत वाली रेलवे वर्कर्शाप, लोको शेड, पिट लाई/कोचिंग डिपो (16) भी राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा।

इसके अलावा रेलवे गुड्स शेड (222 करोड़ रुपये), गति शक्ति मल्टीमॉडल कार्गो टर्मिनल (25 करोड़ रुपये), डिजिटल कंट्रोलिंग ऑफ स्टेशन (25,500 करोड़ रुपये), 80 रेलखंडों में 1045 रूट किलोमीटर में ऑटोमेटिक सिगनलिंग सिस्टम (1361 करोड़ रुपये) को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इसके अलावा वे 1500 से अधिक वन स्टेशन वन प्रोडक्ट स्टॉल और 35 रेल कोच रेस्टोरेंट व 975 लोकेशनों पर सोलर पावर स्टेशन/सर्विस बिल्डिंग राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

पीएम इन वंदे भारत ट्रेनों को दिखाएंगे हरी झंडी

प्रधानमंत्री मोदी 12 मार्च को मैसूर-डॉ। एमजी रामचंद्रन सेंट्रल (चेन्नई), लखनऊ-देहरादून, कलबुर्गी-सर एम विश्वेसरैया टर्मिनल बेंगलुरु, रांची-वाराणसी, दिल्ली (निजामुद्दीन)-खजुराहो, सिकंदराबाद- विशाखापट्टनम, न्यू जलपाईगुड़ी- पटना, पटना-लखनऊ, अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल और पुरी-विशाखापट्नम सहित 10 नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन का शुभारंभ करेंगे।

इसी के साथ अहमदाबाद-जामनगर वंदे भारत एक्सप्रेस का द्वारका तक, अजमेर-दिल्ली सराय रोहिल्ला वंदे भारत एक्सप्रेस का एक्सटेंशन चंडीगढ़ तक, गोरखपुर-लखनऊ वंदे भारत एक्सप्रेस का एक्सटेंशन प्रयागराज तक और तिरुवनंतपुरम-कासरगोड़ वंदे भारत एक्सप्रेस का एक्सटेंशन मंगलुरू तक किया जाएगा।

गौरतलब है कि 31 जनवरी 2024 तक 82 वंदे भारत ट्रेन भारतीय रेलवे द्वारा चलाई जा रही हैं। ये वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें 24 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों और 256 जिलों से गुजरती हैं। 12 मार्च से 10 जोड़ी नई वंदे भारत ट्रेनों की शुरुआत के साथ, भारतीय रेलवे में 104 सेवाएं (51 जोड़ी ट्रेन) चालू हो जाएंगी।

पूर्व मध्य रेल की इन योजनाओं का होगा शिलान्यास और लोकार्पण

इस संदर्भ में जानकारी देते हुए पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक तरुण प्रकाश ने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा 85 हजार करोड़ रुपये की, जिन रेल परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया जाएगा, उनमें पूर्व मध्य रेल की 13,228 करोड़ रुपये की परियोजनाएं भी शामिल हैं। साथ ही शुभारंभ किए जाने वाली 10 वंदे भारत ट्रेन में पटना-लखनऊ और न्यू जलपाईगुड़ी-पटना वंदे भारत ट्रेन भी शामिल है। रांची-वाराणसी वंदे भारत का परिचालन भी पूर्व मध्य रेल क्षेत्राधिकार में किया जाएगा।

इसी के साथ पीएम मोदी नरकटियागंज में 50 करोड़ की लागत वाली वाशिंग पिट लाइन के साथ कोचिंग कॉम्पलेक्स के निर्माण का शिलान्यास करेंगे। इसी क्रम में 5423 करोड़ रुपये की लागत से ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रंट कॉरिडोर की न्यू चिरैला पाथु-न्यू सोननगर लिंक (137 रूट किमी), 6309 करोड़ रुपये की लागत से 422 किलोमीटर लंबी नई लाईन/दोहरीकरण/आमान परिवर्तन/मल्टी ट्रैकिंग परियोजनाओं को पीएम राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

इसके अलावा 12 करोड़ रूपए की लागत से आरा और मुजफ्फरपुर में वाशिंग पिट लाईन, 1329 करोड़ रुपये की लागत वाली 04 गति शक्ति मल्टीमॉडल कार्गो टर्मिनल, पटना, दरभंगा और पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन पर प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि केंद्र और 68 वन स्टेशन वन प्रोडक्ट स्टॉल का भी लोकार्पण प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा किया जाएगा।

follow hindusthan samvad on :