जबलपुर/सिवनी, 17 जुलाई(हि.स.)। जिला मुख्यालय सिवनी से जबलपुर जाने वाले मार्ग पर जबलपुर बरगी थाना अंतर्गत मानेगांव चौराहा से 08 किलो वजनी जीवित पेंगोलिन सहित तीन आरोपियों को क्राइम ब्रांच, डब्ल्यूसीसीबी एवं वन विभाग जबलपुर की संयुक्त टीम ने पकडी है।
पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि शुक्रवार को क्राइम ब्रांच , डब्ल्यूसीसीबी एवं वन विभाग की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर बरगी थाना अंतर्गत आने वाले मानेगांव चौराहे पर दबिश दी जहां पर रज्जन (44)पुत्र ज्वार सिंह डेहरिया, जगदीश (28) पुत्र सूरज डेहरिया एंव रामस्वरूप (36)पुत्र ज्वार सिंह डेहरिया तीनों निवासी ग्राम गुज्जर खमरिया थाना आदेगांव जिला सिवनी को लगभग 08 किलो वजन के दुर्लभ वन्यप्राणी पेंगोलिन बेचने के लिये ग्राहक की तलाश मे घूमते हुये पकड़ा गया है। पकडे गये आरोपितों ने बताया कि उन्होनें पेंगोलिन गुज्जर खमरिया मड़ के जंगल से पकड़ा है जिसकी अन्तर्राष्ट्रीय मार्केट में कीमत लगभग 1 करोड़ 50 लाख रूपये है।
आगे बताया गया कि शनिवार को आरोपितों के पास से बरामद वन्यप्राणी पेगोंलिन को वन विभाग के सुपुर्द किया गया है। अग्रिम कार्यवाही वन विभाग द्वारा की जा रही है।


सिवनी उत्तर सामान्य वनमंडल के वन परिक्षेत्र अधिकारी लखनादौन कीर्ति मरकाम ने बताया कि पेगोलिन के मामले में पकडे गये आरोपित ग्राम गुज्जर खमरिया थाना आदेगांव के निवासी है वह ग्राम में निवास नही करते है एक आरोपित दिल्ली और दो आरोपित जबलपुर में निवास करते है। आरोपितों द्वारा बतायें गये स्थान पर वन्यप्राणी पेंगोलिन का कोई मूवमेंट आज तक नही देखा गया है। गुज्जर खमरिया मड़ का जंगल लखनादौन परिक्षेत्र की औराबीट अंतर्गत आता है।


वनमंडलाधिकारी जबलपुर अर्चना सुचित्रा टिर्की ने बताया कि जबलपुर क्राइम बांच ने पेगोलिन मामले में पकडे तीनो आरोपितो को वन विभाग को सौंप दिया है। वन विभाग अग्रिम कार्यवाही कर आरोपितों से पूछताछ कर रहा है।


हिन्दुस्थान संवाद