सिवनी, 18 मई। जिले के प्रत्येक ग्राम की सीमा सम्पूर्ण कोरोना कर्फ्यू अवधि में सील रहे। सख्ती से सील की जाए ,किसी भी बाहरी व्यक्ति को ग्राम में आने की अनुमति न दी जाये न ही ग्रामवासी ग्राम के बाहर जाए, यह सुनिश्चित हो। कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाने के निर्देश मंगलवार को कोरोना संक्रमण रोकथाम को लेकर कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग द्वारा बरघाट एवं कुरई विकासखण्ड के अनुविभागीय अधिकारियों (राजस्व), बीएमओ तथा सेक्टर अधिकारियों की ऑनलाईन वीसी के माध्यम से बैठक से दिये है।

कलेक्टर ने आयोजित बैठक में ग्रामवार एक्टिव मरीजो को संख्या, उनकी स्वास्थ्य स्थिति, कोरोना कर्फ्यू एवं किल कोरोना अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी प्राप्त कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये है।
डाॅ.फांटिग ने कहा कि प्रत्येक ग्राम में जनता कर्फ्यू का पालन हो यह सुनिश्चित किया जाए। संदिग्ध मरीजों एवं उनके परिजनों को सख्ती से कोरेनटाईन में रखा जाए। ऐसे मरीज जिनके घरों में पृथक कमरे व अन्य व्यवस्था न हो, उन्हें संस्थागत क्वॉरेंटाइन किया जाये, किसी भी स्थिति में संदिग्ध व्यक्ति एवं उसके परिवारजन घरों से बाहर न निकलें यह सुनिश्चित हो। किल कोरोना अभियान का प्रत्येक ग्राम में सघन क्रियांवयन हो। इस अभियान के तहत सर्वेक्षण में ग्राम को कोई भी व्यक्ति न छूटे साथ ही सर्दी, खासी बुखार जैसे लक्षणों वाले संदिग्ध मरीजों को तत्काल मेडिसिन किट की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए होम कोरेनटाईन किया जाए।
कलेक्टर डॉ फटिंग ने सेक्टर अधिकारियों से उनके ग्रामों में वैक्सीनेशन कार्यक्रम की प्रगति के संबंध में भी जानकारी ली और वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने हेतु अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार के निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि सेक्टर अधिकारी एवं बीएमओ अधिक जनसंख्या वाले ग्रामों का चयन का कर ग्रामवार टीकाकरण शिविर आयोजित करें तथा सभी पात्र ग्रामीणों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करवाऐं। शासन के निर्देशानुसार ग्राम के सभी पात्र परिवारों को सुविधाजनक रूप से राशन वितरण सुनिश्चित किया जाए। इस दौरान उचित मूल्य दुकानों में सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने के निर्देश भी दिए गये। कलेक्टर डॉ फटिंग ने शासन के निर्देशानुसार बिना पात्रता पर्ची वाले जरूरतमंद परिवारों को स्थानीय निकाय के माध्यम से अस्थायी पात्रता पर्ची जारी कर राशन वितरण करने के निर्देश दिये हैं।

हिन्दुस्थान संवाद