सिवनी, 09 मई। जिले के बरघाट विकासखंड अंतर्गत आने वाले ग्राम कोसमी, धारनाकला के 03 व्यक्तियों द्वारा अपने पुत्र-पुत्रियों का विवाह टाल कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये लगाये गये कोरोना कर्फ्यू का पालन करते हुए जिला प्रशासन का सहयोग किया गया है।


सिवनी कलेक्टर के सोशल मीडिया प्रभारी ने रविवार को जानकारी दी कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते हुए प्रभावों के ध्यान में रखते हुए राज्य शासन द्वारा सम्पूर्ण मई माह में विवाह कार्यक्रम आयोजित न करने के आदेश जारी किए गए हैं। जिसके परिपालन में जिला प्रशासन द्वारा जिले वासियों से उक्त अवधि में विवाह कार्यक्रम आयोजित न करने की अपील की जा रही हैं। इसी क्रम में सूचना पर जिले के राजस्व, पंचायत, महिला एवं बालविकास विभाग का संयुक्त दल बरघाट विकासखंड के ग्राम कोसमी व धारना कलां शनिवार को पहुंचा जहां पर संयुक्त ने 03 परिवारों को विवाह न करने की समझाइस दी। जिस पर ग्राम कोसमी के चुन्नीलाल द्वारा अपने पुत्र के विवाह कार्यक्रम को, श्रीमती सुमित्रा बाई राहंगडाले धारना कला द्वारा पुत्री के विवाह को एवं श्री अतरसिंह मर्सकोले द्वारा अपनी पुत्री के विवाह को समझाइस के उपरांत टाल दिया है।
बताया कि जिला प्रशासन ने जिलेवासियों से वैश्विक कोरोना संक्रमण की आपदा में अपेक्षित सहयोग की अपील की है और सभी नागरिक कोरोना कर्फ्यू का पालन करें, अनावश्यक घरों से बाहर न निकलें। इस अवधि में विवाह कार्यक्रमों को टाल दे, मृत्यु भोज या अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में कम से कम लोग सम्मिलित हो, इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग का पालन एवं मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें।


हिन्दुस्थान संवाद