सिवनी, 11 सितम्बर। जिले के दक्षिण सामान्य वनमंडल के अधिकारियों की सूचना पर गुरूवार को नागपुर वन विभाग ने सीतापुर गांव निवासी दो आरोपितों को बाघ के एक नाखून व तीन नग हड्डियों के साथ गिरफ्तार किया है। ज्ञात हो कि दोनों आरोपित 24 अगस्त को सिवनी के खवासा में बाघ की हड्डियों के साथ पकड़े गए गिरोह में शामिल हैं।
दक्षिण सामान्य वनमंडल के उपवनमंडल कुरई के एसडीओ एसके जौहरी ने बताया बीते माह 24 अगस्त की रात्रि दक्षिण सामान्य वनमंडल के वन अमले ने जबलपुर एसटीएफ की मदद से सीतापुर गांव निवासी बालचंद (40) वरकड़े को करीब 9 किलो बाघ की हड्डियों के साथ खवासा से गिरफ्तार किया था। इसके बाद पूछताछ की कड़ियों को जोड़ते हुए वन अमले ने अन्य चार आरोपितों को नागपुर के पिंडकापार, सीतापुर व बरहेना गांव से गिरफ्तार किया था। संयुक्त अमले ने इस प्रकरण में कार्यवाही कर विभिन्न स्थानों से पांच आरोपितों क्रमशः बालचंद वरकड निवासी सीतापुर रोशन उइके (30) निवासी पिंडकापार ,नरबद(35) कोडवाटे ,बरहेना गांव निवासी कैलाश(40) भलावी व आईटीआई में अध्ययनरत उसका भतीजा राहुल (22) भलावी पारसिवनी को गिरफ्तार कर आरोपितों से दो राइफल, हड्डियां व अन्य सामग्री जब्त की है। जिन्हें जेल भेज दिया गया है।
बताया गया कि बाघ के अंगों की तस्करी में लिप्त गिरोह से जुड़े नागपुर निवासी दो लोगों के नाम मिलने पर गुरूवार को इसकी सूचना नागपुर वन विभाग को दी गई जिस पर वन अमले ने कार्यवाही करते हुए प्रकरण दर्ज कर आरोपितों के कब्जे से बाघ के एक नाखून व तीन नग हड्डियों को बरामद किया है। आरोपितों ने पूछताछ में सिवनी की जेल में कैद आरोपितों के नाम बताए हैं। इस मामले में और लोगों की गिरफ्तारी होने की भी संभावना जताई जा रही है।
हिन्दुस्थान संवाद