सिवनी, 10जनवरी। जिले के कुरई विकासखंड अंतर्गत आने वाले ग्राम चारगांव निवासी राशिद खान ने परम्परागत खेती से हटकर उद्यानिकी की फसलों में ताईवान पपीते के 900 पौधे लगाकर एक वर्ष में 4.2 लाख रूपये की आय अर्जित की है।


कृषक राशिद पुत्र फैयाज खान बताते है कि उद्यानिकी विभाग के अधिकारी ओ.पी.शिव द्वारा उन्हें उद्यानिकी की फसलों की खेती करने का सुझाव दिया गया, जिससे प्रोत्साहित होकर पहली बार उनके द्वारा मई 2020 में 1 एकड में पपीते की ताईवान किस्म के 900 पौधें लगाए गये। एक एकड में पपीते की खेती करने में लगभग एक लाख रूपये का खर्च आया।लगी फसल में उद्यानिकी विभाग के अधिकारी द्वारा समय-समय पर उन्हें पौधो की देखभाल, फसल में होने वाली बीमारियों से बचाव एवं सभी प्रकार की सलाह दी गई। पौधो में आठ से नौ महीने बाद फल आना शुरु हो गए जिन्हें स्थानीय बाजार में औसतन 2000 रूपये प्रति क्विंटल की दर से उन्होनंे विक्रय किया। एक एकड से उन्हें कुल 210 क्विंटल पपीते का उत्पादन मिला, जिसकी आय 4.2 लाख रूपये प्राप्त हुई।
उन्होनें बताया कि वर्तमान में धान, गेंहू, मक्का की परम्परागत खेती से हटकर 2 एकड में पपीते की आईस बेरी किस्म की खेती कर रहे है। मई 2021 के महीनें में उन्होनें 2 एकड में पपीते के 1700 पौधों का रोपण किया गया, जो कि वर्तमान में फलन पर हैं।
राशिद परम्परागत खेती से हटकर उद्यानिकी फसलों की खेती करने से हुये लाभ से प्रोत्साहित होकर जिले के किसानों को समझाईश देते हुए बताया कि यदि किसान सही तकनीक एवं समय पर सही देखभाल करते हुए उद्यानिकी की फसलों की खेती करे तो उन्हें कई गुना अधिक लाभ मिल सकता है।
हिन्दुस्थान संवाद

error: Content is protected !!