सिवनी, 01अगस्त। जिले के लखनादौन सब जेल में पिछले 1 वर्ष से विचाराधीन कैदी अर्जुन मर्सकोले ने देर रात जेल परिसर में शौचालय में जाकर चादर को फाड़कर रस्सी बनाई और फांसी के फंदे पर झूल गया जिससे उसकी मौत हो गई।


पुलिस सूत्रों के अनुसार विचाराधीन कैदी अर्जुन मर्सकोले पर आरोप था कि उसने गांव की ही 5 वर्षीय मासूम के साथ हैवानियत कर उसे गला घोट कर मार डाला और गांव के नजदीक जंगल की झाड़ियों में शव को फेंक दिया था। लखनादौन पुलिस ने पूरे मामले की जांच करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था जहां वह पिछले 1 वर्ष से विचाराधीन कैदी के रूप में सब जेल में सजा काट रहा था।
शनिवार-रविवार की दरम्यिानी रात हुये घटनाक्रम के बाद एक बार फिर लखनादौन थाना पुलिस ने आरोपित अर्जुन(23) मर्सकोले के आत्महत्या मामले में मर्ग कायम कर जांच में जुटी है वही लखनादौन सब जेल के जेलर मीडिया से दूरी बनाए हुए हैं इस पूरे मामले पर सब जेलर कुछ भी कहने से बच रहे हैं।
सब जेल में कैदियों की सुरक्षा को लेकर अब जेल प्रशासन पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं वहीं दूसरी ओर बंदी के शव का सिविल अस्पताल लखनादौन में शव परीक्षण के बाद शव परिजनों को सौप दिया गया हैं।
हिन्दुस्थान संवाद