सिवनी, 11 जुलाई। जिले के घंसौर थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम दिवारी में गत 07 जुलाई 21 को शासकीय कुऐं में मिली लाश की गुत्थी सिवनी पुलिस ने 72 घंटे के अंदर सुलझाकर शनिवार को 02 आरोपित को गिरफ्तार किया है। जिसका खुलासा सिवनी पुलिस ने रविवार की दोपहर को किया है।
सिवनी पुलिस के मीडिया अधिकारी देवेन्द्र जायसवाल ने रविवार की दोपहर को जानकारी दी कि 07 जुलाई 21 को ग्राम दिवारी निवासी राधेलाल पुत्र लामू यादव ने थाना घंसौर में सूचना दी कि कमलेश उर्फ गुड्डू यादव की लाश गांव के शासकीय कुएं में पड़ी हुई है। सूचना पर घंसौर पुलिस द्वारा घटना स्थल पर पहुँचकर शव का मुआयना कर एवं मौके पर मर्ग, धारा 174 सीआरपीसी कायम किया।
आगे बताया गया कि मर्ग जांच के दौरान मृतक की पीएम रिपोर्ट जिसमें मृतक के सिर एवं जबड़ो पर मौजूद गंभीर चोटों के निशान तथा कपड़ों पर खून के धब्बों के आधार पर डॉक्टर द्वारा हत्या की पुष्टि की गई। जिसके आधार पर थाना घंसौर में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध भादवि की धारा 302,201 का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर थाना प्रभारी घंसौर के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी के प्रयास प्रारंभ किए गये। विवेचना के दौरान मिले परिस्थितिजन्य साक्ष्यो व मुखबिर सूचना के आधार पर पुलिस टीम द्वारा संदेही शिवम चौकसे, मनोहर उर्फ करिया उइके निवासी दिवारी थाना घंसौर को हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान संदेहियों द्वारा बताया गया कि जुआं खेलने के दौरान पैसे को लेकर उनका कमलेश उर्फ गुड्डू यादव से विवाद हो गया था जिसके चलते उन्होंने गांव के कुएं के पास कमलेश यादव को घेर लिया एवं पत्थरों से सिर पर हमला कर उसकी हत्या कर दी। लाश की पहचान छिपाने की नियत से लाश को कुएं में फेंक दिया। प्रकरण के दोनों आरोपितों को शनिवार को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया जहाँ से दोनों आरोपितों को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी घंसौर निरीक्षक रमनसिंह मरकाम, उनि राजेश दुबे, सउनि एम डी पटेल, आरक्षक राजू बोरीकर, महिला आरक्षक बबीता सेन, आरक्षक चालक तरुण काकोडिया का योगदान रहा।
हिन्दुस्थान संवाद