सिवनीः पेंच प्रबंधन ने सुपर टाइग्रेस मॉम को दी श्रद्धाजंलि

सिवनी, 17 जनवरी । जिला मुख्यालय स्थित पेंच टाइगर रिजर्व के कार्यालय में सोमवार दोपहर को पेंच प्रबंधन द्वारा कालर वाली बाघिन टी 15 (सुपर टाइग्रेस मॉम) के छायाचित्र पर पुष्प अर्पित कर दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धाजंलि अर्पित की गई।

पेंच टाइगर रिजर्व के उपसंचालक अधर गुप्ता ने कहा कि रिजर्व को सम्पूर्ण विश्व में पहचान देने वाली बाघिन टी 15 का जन्म वर्ष 2005 के सितंबर माह में उस समय की विख्यात बाघिन बड़ी मादा से हुआ था। आगे चलकर बड़ी मादा की मृत्यु के पश्चात् कॉलरवाली ने अपनी मां की विरासत को गौरवपूर्ण तरीके से आगे बढ़ाया। कॉलरवाली बाघिन ने मई 2008 से दिसम्बर 2018 के मध्य कुल आठ बार में 29 शावकों को जन्म दिया और पेंच में बाघों का कुनबा बढ़ाने में अपना अविस्मरणीय योगदान दिया। एक बाघिन का अपने जीवन काल में 29 शावकों को जन्म देना एक विश्व रिकार्ड है एवं 29 शावको में से 25 शावकों को जन्म पश्चात् एक बाघिन द्वारा जीवित रख पाना भी अपने आप में अभूतपूर्व कीर्तिमान है। कॉलरवाली बाघिन ने मई 2008 में प्रथम बार में तीन शावकों को, अक्टूबर 2008 में चार शावकों को, अक्टूबर 2010 में पांच शावकों को, मई 2012 में तीन शावकों को, अक्टूबर 2013 में तीन शावकों को अप्रेल 2015 में चार शावकों को, 2017 में तीन शावकों को एवं दिसम्बर 2018 में चार शावकों को जन्म दिया था।

वर्तमान में पाटदेव बाघिन (टी4) जो कि अपने पांच शावकों के साथ पार्क की शोभा बढ़ा रही है। वह कॉलरवाली बाघिन की ही संतान है पार्क प्रबंधन को पूर्ण विश्वास है कि यह बाघिन शीघ्र ही अपनी मॉ का स्थान लेकर कॉलरवाली की विरासत को आगे बढ़ाऐगी। पार्क प्रबंधन इनकी सुरक्षा पर विशेष ध्यान दे रहा है।


इस दौरान उपसंचालक अधर गुप्ता, एसडीओ बी.पी.तिवारी, आशीष पांडे, डॉ. अखिलेश मिश्रा, वाइल्डलाइफ फोटोग्राफर निशांत कपूर सहित पेंच प्रबधन के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान संवाद

follow hindusthan samvad on :