सिवनी जिले से दो पहिया वाहन पर मंडला जिले के घुघरी में वैक्सीनेशन करा कर पेश की मिसाल

भोपाल, सिवनी 22 मई । मध्‍य प्रदेश में सिवनी जिले के तुलसीराम ठाकुर ने कोविड टीकाकरण को लेकर जो जागरूकता और ज़िम्मेदारी दिखाई है, वो एक मिसाल बन गई है। जिले के ग्राम चंदनवाड़ा कला निवासी 38 वर्षीय तुलसीराम ठाकुर को 18+ का वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद सिवनी में वैक्सीनेशन के लिए स्लॉट नहीं मिल रहा था, जिसके बाद उन्होंने मंडला जिले के घुघरी में ओपन स्लॉट में बुकिंग कराई। उन्होंने अपने गांव से 160 किलोमीटर दूर जाकर वैक्सीनेशन कराया।

इसमें भी विशेष यह रहा है कि तुलसीराम ठाकुर के साथ उनके परिवार की महिला सदस्यों मीराबाई, सीताबाई और चंद्रकलाबाई ने भी वैक्सीनेशन कराया। घुघरी में वैक्सीनेशन कराने पहुंचे तुलसीराम ठाकुर के परिवार की जागरूकता और कर्तव्यबोध को देखकर अधिकारी भी दंग रह गए। इस संबंध में तुलसीराम ठाकुर कहते हैं कि वे चार पहिया वाहन से परिवार सहित, घुघरी के टीकाकरण स्थल तक पहुंचें। उनका कहना है कि घुघरी में वैक्सीनेशन होने से वे बेहद खुश हैं और जनमानस से भी अपील करते हैं कि टीकाकरण अवश्य करवाएं।

उन्‍होंने कहा है कि कोरोना के इस संकट से सिर्फ अब टीका एवं जरूरी सावधानी ही बचाव है, इसलिए ये नहीं सोचना है कि टीका कहां लगेगा, जहां भी लग सकता है वहां जाकर अपना और अपने परिवार का टीकाकरण कराना ही चाहिए। परिवार स्‍वस्‍थ है तो जिन्‍दगी में बहुत कुछ आपके पास है, परिवार दुखी तो जीवन में खुशी नहीं आपके पास आ सकती है। इसलिए भी ये जरूरी है कि कोरोना के इस बुरे दौर में वैक्‍सीनेशन से अपना और अपने परिवार को सुरक्षा प्रदान कराई जाए।

दरअसल, तुलसीराम ठाकुर के इस साहस और परिवार को देखकर कहना होगा कि कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में वैक्सीनेशन सुरक्षा कवच का काम कर रहा है। लेकिन भ्रांतियों और गलत अफवाह के कारण वैक्सीनेशन कम संख्या में लाभार्थी करा रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए तुलसीराम ठाकुर ने सही राह दिखाई है।

हिन्दुस्थान संवाद