सिवनी, 19 अप्रैल। जिले के बंडोल पुलिस ने एक अंधे हत्याकांड का खुलासा सोमवार को किया है। पुलिस ने इस अंधे हत्याकांड में शामिल पत्नी, नाबालिग पुत्री व एक युवक को गिरफ्तार किया है।
सिवनी पुलिस के मीडिया अधिकारी आशिष खोब्रागडे ने सोमवार की शाम को जानकारी दी कि जिले के बंडोल थाना में शनिवार 17 अप्रैल 21 को ग्राम बांकी निवासी संतोष जंघेला का शव बंडोल की गुसाई घाट के पास नहर में बनी टंकी में मिलने की सूचना मिली थी जिस पर पुलिस ने अग्रिम कार्यवाहियां करते हुए अज्ञात व्यक्ति के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया।


बताया गया कि पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एस.के.मरावी ने अपने सतत निगरानी में अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सिवनी सुश्री पारुल शर्मा को एक टीम गठित कर इसकी विवेचना हेतु आदेशित किया। गठित टीम द्वारा पारिस्थतिजन्य साक्ष्य व विवेचना के दौरान मुखबिर से मिली सूचनाओं के आधार पर मृतक की पत्नी सरोज व पुत्री को हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की गई।
पुलिस को मृतक की पत्नी सरोज जंघेला ने बताया कि उसका पति संतोष शराब व गांजा पीने का आदी था, मना करने पर रोज मारपीट करता था और पिछले कुछ दिनों से उसके(पत्नी) चरित्र को लेकर उलाहना देता था। दो दिन पहले उसकी 17 वर्षीय लडकी मोबाइल पर पर बात कर रही थी तब भी मारपीट किया था। पति द्वारा रोज के मारपीट और प्रताड़ना से परेशान होकर उसने बेटी के साथ मिलकर पति को मारने की योजना बनाई। मृतक की नाबालिग बेटी ने अपने दोस्त को ये बात बताई जिस पर उसके दोस्त जित्तु बंजारा ने अपने अन्य साथी सोनू जंघेला के साथ मिलकर संतोष को मारने की योजना बनाई।
शनिवार 16 अप्रैल 21 की मध्यरात्रि जित्तु उर्फ जितेन्द्र बंजारा अपने साथी सोनू जंघेला के साथ संतोष के घर आया। जहां पर संतोष बाहर चबूतरे में रोज की तरह शराब पी कर सो रहा था। इस दौरान पत्नी सरोज और नाबालिग बेटी संतोष के पास गयी और हाथ पैरो को पकड़ लिया और जित्तु व उसके साथी सोनू ने साथ मे लाये लिवर व सब्बल जैसे हथियार से उसके सिर पर वार किये जिससे उसके सिर से खून बहने लगा, कुछ देर बाद वो तड़पकर मर गया।


पुलिस को मृतक की पत्नी ने बताया कि मारने के बाद जित्तु व उसके साथी सोनू ने मोटरसाइकिल से संतोष की लाश को छिपाने के लिए गुसाई घाट के पास नहर में बनी टंकी में फेंक दिया। और सरोज थाने में आकर रिपोर्ट दर्ज करवाई।
पुलिस ने बयानों के आधार पर श्रीमति सरोज पत्नी संतोष जंघेला , नाबालिग 17 वर्षीय पुत्री और पुत्री के दोस्त जित्तू उर्फ जितेंद्र बंजारा निवासी बंडोल को गिरफ्तार कर घटना में उपयोग की गई मोटरसाइकिल , लीवर राड व खून लगे कपडे को जब्त कर अन्य आरोपित सोनू जंघेला की तलाश के लिए पुलिस टीम रवाना किया है।
पुलिस ने गिरफ्तार आरोपितों को सोमवार को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। वहीं नाबालिग पुत्री को बाल न्यायालय भेजा गया है।


हिन्दुस्थान संवाद