सिवनी, 10 मई। कोरोना महामारी की रोकथाम एवं जागरूकता हेतु शासन के द्वारा तरह-तरह के प्रयास किये जा रहे है, वहीं मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद सिवनी के विशेष प्रयासों से लोगों को जागरूक कर कोरोना जैसी महामारी की चपेट में आने से बचाया जा रहा है।


कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग के निर्देशन में नगरीय क्षेत्रों में सिविल डिफेंस कोरोना वोलेंटियर्स द्वारा इस अभियान का सकारात्मक क्रियान्वयन किया जा रहा हैं। वहीं जन अभियान परिषद के जिला समन्यवक सौरभ शुक्ला द्वारा कोरोना वोलेंटियर्स के कार्यक्षेत्र में जाकर उन्हें प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस योजना के तहत स्वप्रेरणा से वॉलिंटियर लगातार जुड़ रहे है। कोरोना वाॅलिटियर द्वारा लोगों को डोर टू डोर सर्वे के माध्यम से बचाव के तरीके , फिजीकल डिस्टेंस का महत्व समझाया जाकर शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी जागरूक किया जा रहा है। लोगों को समझाईश दी जा रही है कि वे मुंह पर सही तरीके से मास्क पहनकर इस बीमारी से बच सकते है। समय-समय पर हाथों को साबुन से धोकर या सैनिटाइजर द्वारा अपने हाथों को स्वच्छ रखा जा सकता है। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के प्रति भी जागरूकता होना आवश्यक था। इसके लिए गोले बनाकर उचित दूरी बनाए रखने हेतु सलाह दी जा रही है।


जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक सौरभ शुक्ला ने बताया कि जिले में लगभग 2100 कोरोना वाॅलिटियर पंजीकृत है। जो आठों विकासखंड में लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रहे है। वहीं कुछ स्वयं सेवक पूरी तन्मयता और निष्ठा के साथ सहयोग राशि से ग्राम, नगर कस्बे व बस्तियों में जाकर लोगों को जरूरत का सामान व भोजन उपलब्ध करा रहे है।

जिले में कोविड-19 से संबधित तरह तरह के स्लोगन को दीवार लेखन के द्वारा लोगों को जागरूक करने हेतु प्रयास किया जा रहा है। स्वच्छता के लिए हाथों को किस तरह आंख, नाक व मुंह से दूर रखना है यह जानकारी भी दी जा रही है कि मास्क का उपयोग कैसे करना है यह बताया जा रहा है।

शासन के द्वारा जो औषधि वितरण की जा रही है, उस में सहयोग कर लोगों को इस औषधि का उपयोग कैसे करना है यह बताया जा रहा है। साथ ही स्वदेशी चीजों से किस प्रकार शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है जैसे गिलोय, नींबू का रस, अदरक, तुलसी आदि का उपयोग अपने दैनिक जीवन में करके प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है, यह बताया जा रहा है। सभी लोगों से घर में ही रहने की अपील लगातार की जा रही है। जब जरूरी काम हो तभी घर से बाहर निकले।


आगे बताया गया कि कुछ विकासखंड में कोरोना वालिटियर द्वारा कच्चा राशन व जहां आवश्यकता थी वहां पर बने हुए भोजन एवम् मास्क का भी वितरण भी किया जा रहा है। वाॅलिटियर द्वारा कोरोना वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है और बुजुर्गो को साथ ले जा कर टीकाकरण करवाया जा रहा है। और वैक्सीन का महत्व बता कर भ्रांतियों को दूर किया जा रहा है।


सिविल डिफेंस के जिला मीडिया प्रभारी राकेश उपाध्याय ने बताया कि नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में सिविल डिफेंस कोरोना वॉलिंटियर द्वारा निरंतर लोगों को मास्क के प्रयोग और वेक्सीनेशन को प्रोत्साहन देने का कार्य सतत रूप से जारी है।


इसी क्रम में सोमवार को नगरीय क्षेत्र स्थित कोविड-19 टीकाकरण के तिलक हाईस्कूल, पाॅलीटेक्निक काॅलेज, मिशन स्कूल, उत्कृष्ठ विद्यालय वैक्सीनेशन केन्द्र व नगर में बने कोविड 19 सहायता केंद्रों पर सिविल डिफेंस कोरोना वॉलिंटियरों ने जाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया। इस दौरान वृद्धों को वैक्सीनेशन सेंटर तक ले जाने व अन्य सहयोग किया गया है। इस दौरान गूंज संस्था के अध्यक्ष मनीषा चौहान , सिविल डिंफेस के जिला प्रमुख ,विजय नायक, राकेश उपाध्याय , रवि सनोडिया, मनाली गौतम , सुश्री साक्षी, अंकित विश्वकर्मा, मनोज विश्वकर्मा उपस्थित रहे।


हिन्दुस्थान संवाद