सिवनीः प्राकृतिक खेती व फसल विविधिकरण पर हुआ कृषक संगोष्ठी का आयोजन

सिवनी,13 सितम्बर। जिले के कृषि विकास विभाग द्वारा सिवनी विकासखंड के अंतर्गत आने वाले ग्राम कन्हरगांव में मंगलवार को आत्मा योजनांतर्गत प्राकृतिक खेती व फसल विविधिकरण पर कृषक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित कृषको को खरीफ मे आयोजित होने वाली फसलो एवं उनसे संबंधित कीट व्याधी नियंत्रण की जानकारी प्रदाय की गई।


कृषक संगोष्ठी में उप संचालक सह परियोजना संचालक आत्मा मोरिस नाथ ने कृषको को बताया कि रासायनिक उर्वरको, कीटनाशको के उपयोग से किसानो की उत्पादन लागत बढ़ रही है, उससे होने वाला उत्पादन मानव स्वास्थ्य के लिये हानिकारक भी है। यदि किसान प्राकृतिक खेती करे तो लागत कम होने के साथ-साथ रसायन मुक्त उत्पादन प्राप्त होगा एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डा. निखिल सिंह द्वारा कृषको को जीवांमृत, घनजीवामृत, बीजामृत, नीमास्त्र आदि का उपयोग बताया। कृषक संगोष्ठी मे फसल विविधिकरण, समन्वित कृषि आदि विषयों पर विस्तार से कृषको को समझाया गया।
इस दौरान उप संचालक सह परियोजना संचालक आत्मा मोरिस नाथ, कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डा. निखिल सिंह, श्रीमति निधि भावे बी.टी.एम. एवं कृषक भाई उपस्थित रहे।
हिन्दुस्थान संवाद

follow hindusthan samvad on :
error: Content is protected !!