सिवनी, 10 जुलाई। सिवनी नगरपालिका में अधिकारी और प्रशासक होने के बाद भी भगवान भरोसे चल रही हैं आम व्यक्तियों की तो वहॉ कोई सुनवाई नहीं है। अकबर वार्ड के एकता कालोनी में थोड़ी सी वर्षा से ही वहॉ की गलियॉ पानी से भर जाती है, नगर की नाले-नालियॉ गंदगी से भरे पड़े है अनेको शिकायत के बाद भी वहॉ जमे अधिकारियों को कोई फर्क नही पड़ता। यह बात जिला कांग्रेस कमेटी सिवनी के प्रवक्ता जे.पी.एस.तिवारी ने शनिवार को जारी बयान में कही है।

सिवनी : नगर पालिका वार्डो के आरक्षण की प्रक्रिया अब 28 जुलाई को |Khabar  Satta


उन्होनें कहा है कि जबसे सिवनी नगरपालिका में ट्राफिक सिगनल चौक-चौराहों पर लगे है जिन पर लाखो रूपय खर्च किया गया है शायद ही कोई दिन हो कि सभी चौक-चौराहों के ट्राफिक सिगनल एक साथ चालू हो। बीते कई महिनों से पूरे नगर के ट्राफिक सिगनल बंद पडे़ है। लेकिन उन्हें चालू करने की सुध नगरपालिका अधिकारी को नहीं है। पूरे नगर का यातायात फूटपाथों के अतिक्रमण से अस्त-व्यस्त है, इन्हंे व्यवस्थित करना नगरपालिका अधिकारी अपनी जिम्मेदारी समझते ही नहीं।
तिवारी ने आगे कहा कि करोड़ो रूपये मॉडल रोड़ स्ट्रीट-लाईट पर खर्च किये गये, एक तो ठेकेदार द्वारा बहुत ही विलम्ब से काम किया गया। स्ट्रीट-लाईट चालू होने के पश्चात 8-10 दिन जलने के बाद स्ट्रीट लाईटे अपने आप बंद हो जाती है अनेको शिकायत के बाद भी नगरपालिका अधिकारी उसे ठीक नही कराते, आज भी वह लाईटे बंद है। मॉडल रोड़ में हुये गड्डे नगर के लोगो को परेशानी का कारण बने हुये है।
सिवनी में जबसे नवीन जलावर्धन योजना का कार्य प्रारंभ हुआ है तब से अनेक बार ठेकेदार के खिलाफ कार्य की गुणवत्ता को लेकर शिकायत की गयी, ठेकेदार प्रभावशाली होने के कारण उस पर कोई कार्यवाही नहीं की गयी, वर्तमान में अनेक वार्डाे में लोगो ने नवीन जलावर्धन योजना से नल कनेक्शन ले लिये है। किन्तु ठेकेदार द्वारा अभी तक लाईन चालू नही की गयी, करोड़ो रूपये की लागत का कार्य करने वाले ठेकेदार के पास कुशल और अकुशल श्रमिकों की टीम नही है वह नगरपालिका की जलप्रदाय की टीम के भरोसे अपने काम करवाना चाहता है यही कारण है कि नवीन जलावर्धन योजना की पाईप लाईन से उपभोक्ताअेां को पानी नही मिल पा रहा है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने जारी बयान में बताया कि सिवनी नगरपालिका को लेकर नगर की जनता परेशान है लेकिन उनकी परेशानी सिवनी के सांसद, विधायक, भाजपा जिला अध्यक्ष को दिखायी नही देती उन्हें तो बस नगरपालिका द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में फ्रलेक्सों में फोटो, मंचों में स्थान और भाषण देने में आनंद आता है। यही कारण है कि मुख्यनगरपालिका अधिकारी को कोई फर्क नही पड़ता कि सिवनी की जनता किस मुसीबत में है भाजपा के जनप्रतिनिधि एवं नेताओं का इन्हें खुला संरक्षण प्राप्त है। जिसका यह नतीजा है कि नगरपालिका अधिकारी महिनों से घर में बैठकर नगरपालिका चला रहें है।
हिन्दुस्थान संवाद