सिवनी, 04 सितम्बर। जिले के कलेक्ट्रेट में पदस्थ दो चपरासियों ने अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष रूद्रदेव राहंगडाले व वरिष्ठ अधिवक्ता वीरेन्द्र शर्मा पर हमला कर दिया। इस घटना के विरोध में शुक्रवार की शाम जिला न्यायालय में एकत्र वकीलों ने जमकर आक्रोश जाहिर किया। इस दौरान एक वकील पर जिला न्यायालय के एक वरिष्ठ क्लर्क द्वारा टिप्पणी कर दिए जाने से हंगामा जैसे हालात बन गए। जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंच गई।
बताया गया कि प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश पवन कुमार शर्मा द्वारा समझाइश दिए जाने के बाद वकील शांत हुए।
नशे में थे धुत्त
जानकारी के अनुसार गुरूवार की शाम लगभग साढ़े सात बजे जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष रूद्रदेव राहंगडाले व वरिष्ठ अधिवक्ता वीरेन्द्र शर्मा जिला न्यायालय परिसर के बाहर की ओर स्थित खनिज विभाग के कार्यालय के बाहर मौजूद थे। इसी दौरान वहां कलेक्ट्रेट में पदस्थ चपरासी नितिन रैकवार व रवि रजक तेज आवाज में बात कर रहे थे। बताया गया कि दोनों शराब के नशे में थे। अधिवक्ता राहंगडाले व शर्मा ने उन्हें मना किया तो दोनों विवाद पर उतारू हो गए। अधिवक्ता राहंगडाले पर लाठी से हमला कर दिया, वहीं अधिवक्ता शर्मा के सिर पर ईंट मार दी।
कोतवाली में मामला दर्ज
अधिवक्ताओं के साथ हुई मारपीट के मामले में कोतवाली थाना पुलिस ने धारा 327 सहित अन्य धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया। दोनों आरोपियों को कोतवाली टीआई महादेव नागोतिया व टीम ने गिरफ्तार कर लिया। बताया गया कि दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया है।
न्यायालय में हुए एकत्र
घटना के विरोध में शुक्रवार की शाम 4 बजे बड़ी संख्या में अधिवक्ता न्यायालय परिसर में एकत्र हो गए और घटना को लेकर नाराजगी जाहिर करने लगे। इसी दौरान न्यायालय के एक कर्मचारी द्वारा एक अधिवक्ता के खिलाफ टिप्पणी कर दी गई , जिससे मौके पर मौजूद सभी अधिवक्ता आक्रोशित हो गए। इससे हंगामा जैसी स्थिति निर्मित हो गई थी।


इनका कहना है
जानकारी मिलते ही पुलिस बल को मौके पर भेज दिया गया था। कुछ समय में ही नाराज अधिवक्ता शांत हो गए थे। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
श्याम कुमार मरावी, एडीशनल एसपी सिवनी
हिन्दुस्थान संवाद