सिवनी, 10 जुलाई। जिले के चालक परिचालक परिवहन सहकारी समिति मर्यादित सिवनी के सदस्यों द्वारा आयुक्त सहकारिता भोपाल, संयुक्त आयुक्त जबलपुर एवं उपायुक्त सहकारिता सिवनी सहित जिला कलेक्टर एवं विधायक सिवनी को शिकायत में बताया है कि समिति का संचालक मंडल बंद होने के बाद 22 जून को प्रशासक नियुक्त किया गया था परंतु 22 जून को प्रशासक नियुक्त होने के बाद भी समिति के अध्यक्ष द्वारा समिति के खाते से 24 एवं 25 जून को 2 लाख 85 हजार 6 सौ रुपये की राशि निकाल ली गई है। और शिकायत में समिति के सदस्यों ने अधिकारियों से समिति अध्यक्ष के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। चालक परिचालक परिवहन सहकारी समिति के सदस्यों ने शनिवार की शाम को जानकारी दी कि वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी गई शिकायत में उन्होनें कहा है कि प्रशासक को नियुक्त होने के तुरंत बाद समिति के सदस्यों ने आशंका जाहिर करते हुए अवगत कराया था कि समिति अध्यक्ष समिति के खाते से राशि निकाल सकता है प्रशासक द्वारा कहा गया था कि अगर वह 22 जून के बाद राशि निकालेगा तो उस पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी परंतु 22 जून के बाद 24 एवं 25 जून को 2 लाख 85 हजार 6 सौ रुपये की राशि समिति के खाते से निकाली गई है और आज दिनांक तक समिति अध्यक्ष के विरुद्ध कोई प्रकरण दर्ज नहीं किया गया है।
आगे बताया कि इसके पूर्व भी उक्त समिति अध्यक्ष के विरोध उपायुक्त सहकारिता कार्यालय में गुपचुप तरीके से संचालक मंडल का चुनाव कराने की शिकायत की गई थी जिसके बाद उपायुक्त सहकारिता द्वारा कार्यवाही करते हुए संचालक मंडल भंग कर दिया गया था और प्रशासक नियुक्त कर दिया गया था परंतु इतनी बड़ी गलती होने के बाद भी संबंधित अधिकारियों द्वारा आज तक अवैध संचालक मंडल का गठन करने वाले दोषी अध्यक्ष के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की गई है साथ ही विवादास्पद समिति मे जब प्रशासक नियुक्त हो गया उसके बाद भी समिति के खाते से रकम कैसे निकाली गई है जो घोर शासकीय लापरवाही है जिसका संज्ञान लेते हुए कड़ी कार्यवाही की जाए यह मांग की गई है।
हिन्दुस्थान संवाद