जिले को तम्बाकू नियंत्रण कानून सम्मत बनाने की गई पहल के सकारात्मक परिणाम

सिवनी, 25 फरवरी। मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी ने बताया कि राष्‍ट्रीय तम्‍बाकू नियंत्रण कार्यक्रम अंतर्गत जिले में कोटपा अनुपालन सर्वेक्षण में संभाग में विशेष उपलब्धि हासिल की। जिसके चलते जिले को राज्‍यस्‍तर से स्‍मृति चिन्‍ह सिवनी जिले को प्राप्त हुआ है। जिले में तम्बाकू नियंत्रण अधिनियम की धारा 4, 5, 6 एवं 7 का पालन करवा कर जिले को तम्बाकू नियंत्रण कानून सम्मत बनाने की पहल जिला प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, वालंटरी हेल्थ एसोसिएशन एवं द इन्टरनेशनल यूनियन अगेन्स्ट ट्यूबरक्यूलोसिस एण्ड लंग डिजि़्ाज (द यूनियन) द्वारा की गयी। जिले में तम्बाकू के दुषपरिणामों को लेकर जिला, विकास खण्ड स्तरीय कार्यशाला आयोजित कर आमजनों को जागरूक किया गया है। साथ ही साथ उल्लंघन की स्थिति में कार्यवाही की गई है।उन्होंने बताया कि जिले में तम्बाकू नयंत्रण कानून की धारा 4, 5, 6 एवं 7 का अनुपालन देखने के लिये एक अनुपालन सर्वेक्षण किया गया। यह सर्वेक्षण जिले के विकास खण्डो में किया गया। इसमें जिले के विकास खंडो के सार्वजनिक स्थानों एवं तम्बाकू उत्पाद बेचने वाली दुकानों पर बाहरी एवं स्वतंत्र संस्थान इन्दौर स्कूल ऑफ सोशल वर्क द्वारा किया गया। सार्वजनिक संस्थानों के अन्तर्गत 7 तरह के स्थान जिसमे कार्यालय, होटल, खाने के संस्थान, शैक्षणिक संस्थान, सार्वजनिक परिवहन, स्वास्थ्य सेवाएं एवं अन्य सार्वजनिक स्थान शामिल थे। इन स्थानो पर सर्वेक्षणकर्ताओ द्वारा धारा 4 एवं धारा 6बी का अनुपालन देखा गया। तम्बाकू उत्पाद की दुकानों पर धारा 5 एवं धारा 6अ का अनुपालन देखा गया। इस अनुपालन सर्वेक्षण में जिले के 522 सार्वजनिक संस्थान एवं 130 तम्बाकू उत्पाद की दुकानों पर अनुपालन सर्वेक्षण किया गया। धारा 7 के लिए तम्बाकू उत्पादों पर चित्रात्मक स्वास्थ्य चेतावनीयों की उपस्थिति देखी गई।

विगत 23 फरवरी को संबंधित अधिकारी के द्वारा राज्‍यस्‍तर से प्राप्त स्‍मृति चिन्‍ह को कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग का सौंपा गया। इस अवसर पर मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पार्थ जैसवाल, मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ. राजेश श्रीवास्‍तव, डीएचओ-1 डॉ. एम.एस.घर्डे, डीएचओ-2 डॉ. आर.के.धुर्वे, सिविल सर्जन डॉ. नावकर सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


हिन्दुस्थान संवाद

follow hindusthan samvad on :
error: Content is protected !!