कोरोना के नए मामले फिर बढ़े, विशेषज्ञों ने कहा चिंता का विषय नहीं

नई दिल्ली, 28 अप्रैल (हि.स.)। देश में कोरोना के नए मामले एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। नए कोरोना संक्रमितों में ज्यादातर वह लोग हैं जिन्हें पहले भी कोरोना हो चुका है। इस बीच राहत खबर यह है कि उनमें से अधिकांश मरीजों में हल्के से मध्यम लक्षण दिखा रहे हैं। अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं पड़ रही है। विशेषज्ञों के मुताबिक ओमिक्रोन के वेरियंट से अभी लोगों को ज्यादा चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के वरिष्ठ महामारी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संजय राय ने बताया कि कोरोना कही गया नहीं है और न ही अगले 30 सालों तक कही जाने वाला है। यह नए स्वरुप में लोगों के बीच आता- जाता रहेगा। उन्होंने बताया कि मौजूदा समय में ओमिक्रोन के सब-वेरियंट के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। लोग कोरोना से दोबारा संक्रमित होने लगे हैं। लेकिन राहत की बात यह है कि अभी यह ज्यादा खतरनाक नहीं है। ज्यादातर मरीजों में हल्के लक्षण देखने को मिल रहे हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है। डॉ. राय ने बताया कि ओमिक्रोन का यह वेरियंट वैक्सीन से प्राप्त प्रतिरोधक क्षमता को भी बायपास कर रहा है। लेकिन अभी इसके उग्र होने की कोई संभावना नहीं दिख रही है।

टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार

उन्होंने कहा कि टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार है जिसने न केवल लोगों की जान बचाई है, बल्कि लोगों को गंभीर रूप से बीमारी होने से भी रोक रहा है।उन्होंने कहा कि लोगों को इससे घबराने की जरुरत नहीं बल्कि उचित कोरोना व्यवहार का पालन करना चाहिए ताकि मामले तेजी से न बढ़ें।

इनपुट-हिन्दुस्थान समाचार/ विजयालक्ष्मी

follow hindusthan samvad on :
error: Content is protected !!