भोपाल, 13 सितंबर। स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स को एक महत्वपूर्ण सफलता मिली है। देवास जिले में स्थित खिवनी वन्य अभयारण्य में खैरवुड का अवैध व्यापार के मुख्य आरोपी को विशेष न्यायालय इंदौर के आदेश के बाद जेल भेज दिया गया है।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य-प्राणी) श्री आलोक कुमार ने बताया कि वन अपराध क्र. 28060/19 दिनांक 21 जनवरी, 2020 में प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई में एक अंतर्राज्यीय गिरोह के लिप्त होने के साक्ष्य मिलने पर हरियाणा राज्य के सोनीपत निवासी मुख्य आरोपी को पकड़ा गया था। प्रकरण में गिरफ्तार किये 8 आरोपियों को 4 राज्यों से गिरफ्तार किया गया था। इस प्रकरण के मुख्य आरोपी के मुरथल सोनीपत को फैक्ट्री में छापामार कार्रवाई कर तकरीबन 17 टन खैरवुड़ जब्त किया गया।

मुख्य आरोपी खैरवुड से कत्था बनाने की फैक्ट्री का मालिक है, जो पिछले एक वर्ष से फरार था। इस आरोपी को जबलपुर से स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स को भोपाल, जबलपुर एवं इंदौर इकाई द्वारा पकड़ा गया है। मुख्य आरोपी का नेटवर्क मध्यप्रदेश के अलावा महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, हरियाणा और उत्तराखण्ड राज्य में फैला हुआ था।

हिन्दुस्थान संवाद