भोपाल, 26 जुलाई।राज्य सरकार द्वारा संचालित लाड़ली लक्ष्मी योजना महिला सशक्तिकरण की दिशा में अहम भूमिका निभा रही है। योजना से लाभान्वित हो प्रदेश की बालिकाएं अपने सुनहरे और सुरक्षित भविष्य की ओर आगे बढ़ रहीं हैं। ऐसी ही एक बालिका हैं होशंगाबाद जिले के ग्राम जासलपुर के शेखर चौरे की पुत्री पूनम चौरे। पूनम ने योजना का लाभ लेकर अच्छे से अपनी शिक्षा पूरी कर रही हैं। पूनम अब नर्स बनकर लोगों की सेवा करने के अपने सपने को पूरा करना चाहती हैं।

पूनम को जुलाई 2006 में योजना में पंजीकृत किया गया था। योजना के तहत पूनम को कक्षा 6वीं में प्रवेश लेते समय 2000 रुपए, कक्षा 9वीं में प्रवेश लेते समय 4000 रूपये, कक्षा 11वीं में प्रवेश लेने पर 6000 रूपये की छात्रवृत्ति प्रदान की गई। चूंकि पूनम के माता-पिता आर्थिक रूप से कमजोर हैं। ऐसे में पूनम की शिक्षा से संबंधित जो भी व्यय था वह इस छात्रवृत्ति की राशि से पूर्ण किया जाता रहा है।

पूनम ने बताया कि उनके द्वारा छात्रवृत्ति की राशि का उपयोग विभिन्न शिक्षा से संबंधित किताबे एवं अन्य सामग्री खरीदने में किया गया। उनकी रूचि नर्सिंग में है। कक्षा 12वीं के बाद नर्सिंग कोर्स कर भविष्य में एक अच्छी नर्स बनकर समाज की सेवा करना चाहती है। पूनम ने बताया कि मेरी पढ़ाई में लाडली लक्ष्मी योजना से मिलने वाले छात्रवृत्ति का बहुत बड़ा योगदान है। पूनम ने अपने सुरक्षित भविष्य के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को हृदय से धन्यवाद दिया हैं।

उल्लेखनीय है कि होशंगाबाद जिले में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित लाड़ली लक्ष्मी योजना का प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन किया जा रहा हैं। जिले के ग्रामीण परियोजना होशंगाबाद अंतर्गत परियोजना अधिकारी श्री प्रमोद गौर एवं पर्यवेक्षक श्रीमती प्रीति शर्मा योजना के क्रियान्वयन में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहें हैं। श्री प्रमोद गौर द्वारा विगत वर्ष प्राप्त लक्ष्य अनुसार लाडली लक्ष्मी योजना में सतत् कार्य कर शत-प्रतिशत लक्ष्य को पूर्ण कर शाला प्रवेशी बालिकाओं को अलग-अलग कक्षाओं में छात्रवृत्ति का लाभ विभाग द्वारा दिलाया गया है।

हिन्दुस्थान संवाद