सिवनी, 05 अक्टूबर। जिले के पेंच टाईगर रिजर्व अंतर्गत ग्राम कर्माझिरी में वन्यप्राणी संरक्षण की अलख जगाने वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह के तहत इंडिया फॉर टाइगर-ए रैली ऑन व्हील रैली का शुभांरभ सिवनी विधायक दिनेश राय द्वारा दीप प्रज्वलित कर रैली को झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

रवाना हुई रैली का घाट कोहका, सुकतरा, गोपालगंज, सिवनी, कान्हीवाडा, केवलारी में भव्य स्वागत किया गया इस दौरान बाघ संरक्षण की शपथ, वृक्षारोपण, स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा जागरूकता के कार्यक्रम, तथा जनप्रतिनिधि, पेंच प्रबंधन,वन विभाग ने वनसंरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक किया है।


राष्ट्रीय ब्याघ्र संरक्षण प्राधिकरण के द्वारा तैयार किये गए खास तरह का फ्लैग इस आयोजन का खास आकर्षण है जो इंडिया फ़ॉर टाइगर्स की थीम पर तैयार किया गया है जिसे गर्व के साथ मुख्य वनसंरक्षक वन वृत्त सिवनी व क्षेत्र संचालक अशोक कुमार मिश्रा ने ग्रहण किया।


कर्माझिरी में आयोजित कार्यक्रम में वृक्षारोपण उपरांत मुख्य वनसंरक्षक ने कहा कि मैं जानता हूँ और महत्व देता हूँ कि बाघ आकर्षक प्राणी के साथ-साथ एक अम्ब्रेला प्रजाति है जो संतुलित, पारिस्थितिक तंत्र का मुख्य रूप से परिचायक है। संतुलित, पारिस्थितिक तंत्र जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक है तथा यह समाज को कई पारिस्थितिक सेवाएं देता है। बाघ अत्यंत दुर्लभ वन्यप्राणी है तथा इसकी संख्या पूरे विश्व में लगातार तेजी से घटी है।

और बाघ संरक्षण की शपथ दिलाते हुए कहा मैं शपथ लेता हूं कि बाघ को एवं उसके आवास को सुरक्षित करूंगा जिससे सभी पारिस्थितिक सेवाएं निरंतर मिल सकें। जिन लोगो में अभी बाघ के प्रति उतनी समझ नहीं है उनमें बाघ संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करूंगा। बाघ संरक्षण एवं सतत् विकास इस प्रकार करूंगा जिससे बाघ और मानव दोनो सह अस्तित्व में साथ रह सकें। अपनी प्राकृतिक धरोहर को संरक्षित करूंगा और वो सभी प्रयास करूंगा जिससे भविष्य में बाघ सुरक्षित रह सकें।


इस दौरान विधायक दिनेश ने कहा कि वन संरक्षण के बारे में उपयोग जानकारी दी और कहा कि हमें पेडो को बचाना है , कई लोग बोलते है हम जंगल में घुसकर लकडी डली उठाकर ले आते है ,

उसका क्रम है हर चीज का अगर सूखी लकडी है तो उससे भी कोई जीव जन्तु जीवित रहता है उसको खाकर , हरे झाड है तो उससे भी कई लाभ है, हमे हरे वृक्षों को बचाना है। वृक्ष हमें आक्सीजन भी देते है जीवन की रक्षा करते है। एक व्यक्ति के जन्म से लेकर मृत्यु तक कम से कम पांच वृक्ष उसके कारण समाप्त हो जाते है। इसलिए कम से कम दो पोधें अवश्य लगायें।
रिसोर्ट एसोसियेशन द्वारा स्कूली छात्र-छात्राओं को वनसरंक्षण से संबंधित मूवमेन्टों वितरित किये गये।

और विधायक सिवनी द्वारा रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है। कर्माझिरी से रवाना हुई रैली मार्ग पर पड़ने वाले उच्चतर माध्यमिक विद्यालय घाटकोहका, बादलपार, सुकतरा, गोपालगंज पहुंची जहां स्कूली छात्र-छात्राओं, गणमान्य नागरिकों द्वारा रैली का स्वागत कर वृक्षारोपण किया गया। इस दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा वनसंरक्षण की जानकारी के बारे में बताकर लोगों जागरूक किया गया। डब्लयू. सी. टी. एवं स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा जागरूकता के कार्यक्रम से लोगों को वन , बाघ व वन्यप्राणियों के संरक्षण के बारे में बताया गया।


इसी क्रम में भव्य रैली दोपहर 12 बजे नगरीय क्षेत्र स्थित सिद्धी विनायक लॉन, नागपुर रोड पहुंची जहां वृक्षारोपण, स्थानीय जनप्रतिनिधियो का स्वागत उद्बोधन, बाघ की शपथ, जन प्रतिनिधियों द्वारा उद्बोधन, वन विभाग की सेवा काल में किये गये कार्यो को महत्व देते हुए सेवानिवृत्त वनाधिकारियों,कर्मचारियों का शाल एवं श्रीफल से सम्मान किया गया वहीं डॉग स्क्वाड दल द्वारा डॉग सुंदर के कार्यो एवं स्नेक रेस्क्यू दल के कार्यों का प्रदर्शन किया गया है

और वन्य संरक्षण के प्रति मन को मोहने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये।

जहां से रैली अपने अगले पड़ाव स्थल कान्हीवाड़ा नवोदय विद्यालय दोपहर 2.30 बजे एवं केवलारी दोपहर 3.45 पहुंची इस दौरान रैली के आगमन पर स्कूली छात्र-छात्राओं, गणमान्य नागरिकों द्वारा रैली का भव्य स्वागत किया गया।

और स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने अपने उद्बोधन में वन्यसंरक्षण के बारे में लोगों को बताया और जागरूक किया।

वहीं वन एवं वन्यप्राणियों के संरक्षण हेतु स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा भी सांस्कृतिक एवं जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित किये गये। जहां से रैली नैनपुर के लिए रवाना हुई और देर शाम को नैनपुर पहुंची जहां कान्हा टाईगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक और दल ने े भव्य रैली का स्वागत किया और पेंच टाईगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक ने ध्वज को कान्हा टाईगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक को हस्तातांरित किया।

उल्लेखनीय है कि भारत देश आजादी के 75 वें वर्ष को आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मना रहा है। इस अवसर पर केन्द्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, राष्ट्रीय व्याघ्र संरक्षण प्राधिकरण पूरे देश में वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह के अंतर्गत वन्यप्राणी संरक्षण की अलख जगाने 01 अक्टूबर से 08 अक्टूबर तक आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के द्वारा इस इंडिया फॉर टाइगर-ए रैली ऑन व्हील जन जागरूकता रैली का आगाज देशभर के 51 टाईगर रिजर्व से शुरू किया गया है जो पूरे सप्ताह तक एक दूसरे टाईगर रिजर्व से होता हुआ 8 अक्टूबर को देश के उन 9 टाईगर रिजर्व में समाप्त होगा जो देश के सबसे पुराने है।


राष्ट्रीय ब्याघ्र संरक्षण प्राधिकरण के द्वारा तैयार किये गए खास तरह का फ्लैग इस आयोजन का खास आकर्षण है जो इंडिया फ़ॉर टाइगर्स की थीम पर तैयार किया गया है, बांधवगढ से शुरू हुई भव्य रैली ऑन व्हील्स , संजय टाईगर रिजर्व,पन्ना, सतपुड़ा, पेंच टाईगर रिजर्व होते हुए मंगलवार शाम को कान्हा टाईगर रिजर्व पहुंची है जंहा इसका समापन बुधवार 7 अक्टूबर को होगा, यह पूरा आयोजन बाघो के प्रति लोगो मे जागरूकता पैदा करने के साथ ही उनके संरक्षण को बढ़ावा देकर देश के पारिस्थितिक तंत्र एवं वन्यजीवों को संरक्षित करने के मकसद से शुरू की गई है, आयोजन की शुरुआत लोगो को बाघ संरक्षण को लेकर शपथ दिलाने से की गई,

पेंच प्रबंधन की माने तो एनटीसीए के द्वारा बाघ संरक्षण को लेकर ए रैली ऑन व्हील्स की तरह ही दो और बड़े इवेंट भी जारी है जिससे आमलोगों में बाघ को संरक्षित करने को लेकर जागरूकता आएगी।

आयोजित भव्य रैली कार्यक्रम में लगभग 35 से 40 दोपहिया वाहन शामिल थे इनमें वन, वन्यप्राणियों , वनसंरक्षण, से संबंधित नारो का उल्लेख था।
इस दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधि, समस्त एसडीओ, प्रशासनिक अधिकारी, समस्त वनपरिक्षेत्र अधिकारी, मुख्य वनसंरक्षक, क्षेत्र संचालक, उपसंचालक, समस्त डीएफओ एवं स्थानीय नगरवासी, ग्रामीणजन, गणमान्य नागरिक ,स्कूली छात्र-छात्राएं, शिक्षा विभाग के प्राचार्य, शिक्षक, वन अमला उपस्थित रहा।

हिन्दुस्थान संवाद