स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने जिला चिकित्सालय के मरीजों से किया संवाद

सिवनी, 25 अप्रैल। प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी जिला चिकित्सालय में उपचाररत मरीजों से सोमवार की दोपहर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने संवाद किया और जिला चिकित्सालय में दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जाना साथ ही उन्होंने डॉ.व्ही.के.नावकर, सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जिला चिकित्सालय सिवनी से भर्ती मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में एवं अस्पताल प्रबंधन द्वारा दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। उपचाररत मरीजों को उच्च स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त हो इस हेतु निर्देशित भी किया। उक्ताशय की जानकारी सोमवार की देर शाम को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश श्रीवास्तव ने दी।


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री ने सोमवार की दोपहर को वाीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से
डायलिसिस युनिट में भर्ती मरीज सलीम खान (61) सिवनी, जरीना बी (37) झीलपिपरिया, नुसरत खान (33) कान्हीवाड़ा तथा योगेन्द्र विश्वकर्मा (54) सिवनी से बात की। इस दौरान योगेन्द्र विश्वकर्मा ने बताया कि मैं विगत 2 वर्षों से क्रोनिक किडनी डिसीज जैसी गम्भीर बीमारी से पीड़ित हूँ तथा निरंतर जिला चिकित्सालय से उपचार प्राप्त कर रहा हूं। आयुष्मान योजना के तहत मेरा उपचार निःशुल्क किया जा रहा है। सप्ताह में 2 से 3 बार डायलिसिस के लिए आना पड़ता है। जिला चिकित्सालय में मुझे बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त हो रही है किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं है। जिला चिकित्सालय प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार की राशि नहीं मांगी गई है।
इसके बाद उन्होंने बच्चा वार्ड में भर्ती होकर उपचार प्राप्त कर रहे बच्चों से संवाद किया जिसमें प्रभात (6), माता-सोनाली निवासी धनौरा तथा अन्य भर्ती बच्चों के पालकों से बात की एवं उनका हालचाल जाना तथा शीघ्र स्वस्थ्य होने की शुभकामनाएं दी।
आगे बताया गया कि स्वास्थ्य मंत्री ने मेटरनिटी वार्ड में भर्ती गर्भवती महिलाओं से संवाद किया जिनमें ममता पत्नी संदीप, गंगेश्वरी पत्नी गजानंद हाडेकर एवं सविता पत्नी संजय से बात की तथा उपस्थित स्टॉफ से मरीजों के बारे विस्तार से जानकारी ली गई।
उन्होंने मरीजों को दवा अस्पताल से मिले सरकार की योजनाओं का संपूर्ण लाभ मिले अस्पताल परिसर में साफ-सफाई रहे, अस्पताल प्रबंधन द्वारा किसी भी प्रकार की राशि न मांगी जायें एवं अस्पताल प्रशासन का व्यवहार विनम्र हो यह सुनिश्चित किए जाने हेतु निर्देशित किया। इसके साथ ही मरीजों को यह सब सुविधाएं प्राप्त हो संबंधित अधिकारियों,कर्मचारियों को उचित दिशा-निर्देश वीडियो कॉल के माध्यम से दिये।
हिन्दुस्थान संवाद

follow hindusthan samvad on :
error: Content is protected !!