मन्त्र शक्ति का प्रभाव और महत्व

मन्त्र शक्ति का प्रभाव और महत्व—

–मंत्रों में बहुत शक्ति होती है। मंत्र शास्त्र के अनुसार विधि-विधान से किया गया मंत्र जप मौत के मुंह में जाते हुए व्यक्ति को भी वापस ला सकता है। नीचे ऐसा ही अद्भुत राम मंत्र के विषय में बताया गया है जिसका विधिपूर्वक जप करने से मरणासन्न व्यक्ति भी ठीक हो सकता है। यदि किसी व्यक्ति को कोई घातक रोग हो तो वह स्वयं इस मंत्र का जप कर सकता है और यदि कोई इस मंत्र का जप करने में असमर्थ है तो उसके निमित्त कोई दूसरा व्यक्ति भी इस मंत्र का जप कर सकता है।मंत्रश्रवण सुजसु सुनि आयउँ, प्रभु भंजन भवभीर।त्राहि त्राहि आरति हरन, सरन सुखद रघुबीर।।

जप विधि- प्रतिदिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि कामों से निपटकर भगवान श्रीराम की पूजा करें।- इसके बाद पूर्व दिशा की ओर मुख करके तुलसी की माला से इस मंत्र का सच्चे मन से जप करें।-

प्रतिदिन कम से कम 5 माला जप अवश्य करें।- कुछ ही दिनों में इस चौपाई का प्रभाव दिखने लगेगा।

श्री अवनीश सोनी
ज्योतिष एवम वास्तु शास्त्री
जिला सिवनी (म.प्र.) मो. 7869955008

follow hindusthan samvad on :