सिवनी 15 जून। जिला मुख्यालय स्थित शासकीय पी.जी.कालेज में मंगलवार को कोरोना मुक्त अभियान के तहत अनुकूल व्यवहार एवं कोविड-19 के संबंध में उन्मुखीकरण के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया है। जिसमें राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से शैक्षणिक संस्थानों के प्राध्यापकों को कारोना अनुकूल व एवं वैक्सीनेशन के संबंध में प्रशिक्षण दिया गया है। यह प्राध्यापक अपनी संस्थाओं में विद्यार्थियों को इस विषय में प्रशिक्षित करेंगे। विद्यार्थियों द्वारा प्राप्त जानकारी का व्यापक प्रचार-प्रसार अपने परिवार संपर्क में आने वाले लोगों के मध्य किया जाएगा।
उक्ताशय की जानकारी शासकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो.एस.के.चिले ने मंगलवार की देर शाम को दी है।
प्राचार्य एस.के.चिले ने बताया कि इस प्रोग्राम की पृष्ठभूमि कोविड-19 वैक्सीनेशन एवं अनुकूल व्यवहार हेतु गठित मंत्री समूह की अनुशंसा के आधार पर बनाई गई रणनीति अनुसार कोरोना मुक्ति अभियान के अंतर्गत उच्च शिक्षा विभाग तथा तकनीकी शिक्षा विभाग के शासकीय विश्वविद्यालय, महाविद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थियों के माध्यम से कोवीड अनुकूल व्यवहार के पालन में समाज की सहभागिता सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाना है। इस कार्यशाला में ग्रामीण जनता का वैक्सीन के प्रति जो भ्रम है, उसके बारे में विस्तार से बताया गया है ,एवं भ्रांति को दूर करने के तथ्य बताए गए हैं। इसके साथ ही कोविड-19 व्यवहार के बारे में बताया गया ,जिसमें हाथ धोना, मास्क पहनना ,सोशल डिस्टेंसिंग का पालन के संबंध में चर्चा की गई। कक्षा में विद्यार्थियों को कैसे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है, क्रांस वेंटिलेशन कक्षा रूम में कैसा होना चाहिए ,ऑफिस में कैसा क्रांस वेंटिलेशन होना चाहिए, इसके बारे में विस्तृत चर्चा की गई।
आगे बताया कि जिला स्तर पर जिला टीकाकरण अधिकारी एवं तहसील स्तर पर खंड चिकित्सा अधिकारी के सहयोग से विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय अध्यापकों का उन्मुखीकरण प्रशिक्षण किया जाएगा। एक संस्था में प्रतिदिन 2 सत्र आयोजित किए जाएंगे प्रत्येक प्रशिक्षण सत्र 1 घंटे का होगा तथा छात्रों के मध्य 2 घंटे का अंतराल होगा। विश्वविद्यालय महाविद्यालय में 3000 तक के विद्यार्थी संख्या के लिए अधिकतम 30 कार्य दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम किया जाएगा , उक्त अवधि उपरांत 3000 से अधिक विद्यार्थी संख्या वाले महाविद्यालय के विद्यार्थी को प्रशिक्षण करने के संबंध में निर्देश जारी किए जाएंगे। प्रारंभिक प्रशिक्षण सत्रों में एनसीसी, एनएसएस के अधिकतम विद्यार्थियों को सम्मिलित किया जाएगा, प्रशिक्षण के दौरान प्रोटोकॉल का पालन करते हुए बैठक व्यवस्था की जाएगी। संपूर्ण कार्यक्रम के दौरान शासन द्वारा कोरोना की रोकथाम के संबंध में जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। किसी भी कक्षा में बैठक क्षमता के 50ः तक की संख्या में ही रखेंगे । साफ-सुथरे ,हवादार एवं बड़े या खुले स्थानों का उपयोग इस उन्मुखीकरण, प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए किया जाएगा । परीक्षा की तिथियों में यह कार्यक्रम नहीं किया जाएगा।
आयोजित कार्यशाला में स्वास्थ्य विभाग से जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ लोकेश चैहान, वीसीसीएम ओमप्रकाश लोवंशी, संजय दुबे , धनीराम ब्रोकर, समस्त ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर ,समस्त ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर ,उच्च शिक्षा विभाग से प्रिंसिपल डॉक्टर सतीश चिले गवर्नमेंट पीजी कॉलेज , डॉ एम सी सनोडिया, वी एस शर्मा लेक्चरर गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज, हेड ऑफ डिपार्टमेंट मैकेनिकल इंजीनियरिंग प्रकाश शिंदे, एवं पीजी कॉलेज के समस्त व्याख्याता, एवं शहरी शिक्षा विभाग से शहरी क्षेत्र के प्राचार्य एवं शिक्षक,उपस्थित रहे।
हिन्दुस्थान संवाद