महाकाल कॉरिडोर के कार्यों को मई अंत तक करें पूर्ण : मुख्यमंत्री श्री चौहान

जन-कल्याण की प्राथमिकताओं और फ्लेगशिप योजनाओं पर हुई चर्चा

भोपाल, 25 अप्रैल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उज्जैन में विकसित हो रहे महाकाल महाराज कॉरिडोर के कार्यों को अंतिम रूप देते हुए शीघ्र पूर्ण किया जाए। प्रधानमंत्री जी द्वारा महाकाल महाराज क्षेत्र विस्तार योजना के लोकार्पण के कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए मई माह तक समस्त व्यवस्थाएँ सुनिश्चित कर ली जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मध्यप्रदेश यात्रा के संबंध में विभिन्न विभागों द्वारा आवश्यक तैयारियों की चर्चा की। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गत 23 अप्रैल को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री श्री मोदी से हुई भेंट के संबंध में बताया कि उन्होंने प्रधानमंत्री जी को महाकाल कॉरिडोर के लोकार्पण के लिए आमंत्रित किया है। वे जून माह में इस उद्देश्य से उज्जैन आ रहे हैं। साथ ही मध्यप्रदेश में विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में भी प्रधानमंत्री से सार्थक चर्चा हुई है। मध्यप्रदेश की स्टार्टअप पॉलिसी, अमृत सरोवर के निर्माण, फसलों के विविधीकरण, तिलहन विकास, मध्यप्रदेश के शरबती गेहूँ के अन्य देशों में निर्यात के लिए किए गए प्रयासों, प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देने के संबंध में की गई पहल की जानकारी भी प्रधानमंत्री को दी गई है। संबंधित विभाग इन प्राथमिकताओं और अन्य फ्लेगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए सतत सक्रिय रहें।

शहर और ग्राम के गौरव दिवस के विचार को लागू करने में मध्यप्रदेश आगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में प्रत्येक ग्राम और नगर का गौरव दिवस मनाने की शुरूआत हुई है। ग्रामों और नगरों के विकास में नागरिकों का सहयोग भी प्राप्त हो रहा है। इस दिशा में नई पीढ़ी को शहर के इतिहास, स्थानीय परम्पराओं और सांस्कृतिक पहलुओं की जानकारी देने के हैरिटेज वॉक जैसे आयोजन किए जाएंगे। भोपाल, इंदौर जैसे नगरों में संस्थाएँ भी विरासत के संरक्षण का काम कर रही हैं। इस तरह की गतिविधियाँ प्रदेश के अन्य जिलों में भी संचालित की जाये।

प्रवासी भारतीय दिवस के लिए करें आवश्यक तैयारी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रतिवर्ष 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन होता है। भारत सरकार के सहयोग से इस वर्ष इंदौर में प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाएगा, जिसमें फ्रेंड्स एम.पी. के सदस्यों के साथ विश्व के देशों से प्रवासी भारतीय आएंगे। यह अंतर्राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम होगा, जो मध्यप्रदेश की छवि को विश्व में स्थापित करेगा। आमंत्रित प्रतिनिधि प्रदेश के पर्यटन स्थल भी देखेंगे। प्रवासी भारतीय दिवस के पूर्व इंदौर में दो दिन की इन्वेस्टर्स समिट भी 7 और 8 जनवरी को हो रही है। दोनों कार्यक्रमों के एक साथ होने से इनका महत्व बढ़ जाएगा। इन कार्यक्रमों को गरिमामय स्वरूप देने के लिए सभी जरूरी तैयारियाँ पूर्ण की जाएँ।

मध्यप्रदेश में राष्ट्रभाषा हिन्दी का प्रचार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश राष्ट्रभाषा हिन्दी के प्रचार की दिशा में इस वर्ष चिकित्सा शिक्षा पाठ्यक्रम को हिन्दी में तैयार कर लागू कर रहा है। यह मध्यप्रदेश का अनूठा कदम होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि लोक सेवक केपेसिटी बिल्डिंग की हर समय कोशिश करते रहे और इस भाव के साथ कार्य करें कि सुधार की गुंजाइश हमेशा विद्यमान रहती है। हाल ही में प्रदेश में केपेसिटी बिल्डिंग कमीशन के सदस्य श्री आर. बालासुब्रमण्यम का भ्रमण भी हुआ है। निश्चित ही इस क्षेत्र में भी मध्यप्रदेश विशेष पहचान बनाएगा। बैठक में मध्यप्रदेश से जल मार्ग से गुजरात की स्टेच्यू ऑफ यूनिटी तक यात्रा के साथ ही रोजगार बढ़ाने के प्रयासों पर भी चर्चा हुई।

हिन्दुस्थान संवाद

follow hindusthan samvad on :
error: Content is protected !!