भोपाल,29 अप्रैल।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज निवास परिसर में नारियल का पौधा रोपा। नारियल को भारतीय सभ्यता में शुभ और मंगलकारी माना गया है। इसलिए पूजा-पाठ और मंगल कार्यों में इसका उपयोग किया जाता है। नारियल सौभाग्य और समृद्धि की निशानी भी होती है।

      नारियल को संस्कृत में ‘श्रीफल’ कहा जाता है। श्री का अर्थ लक्ष्मी है। नारियल के पेड़ को संस्कृत में ‘कल्पवृक्ष’ भी कहा जाता है।  नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट्स अच्छी मात्रा में होते हैं, जिससे थकान या कमजोरी लगने पर ताजा महसूस होता है. एक नारियल में लगभग 600 मिलिग्राम पोटेशियम होता है।

हिन्दुस्थान संवाद