सिवनी, 24 जून। कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय द्वारा देश की 12352 आईटीआई की निर्धारित फ्रेमवर्क एवं मेथेलॉजी के अनुसार ग्रेडिंग कें अंतिम परिणाम घोषित किए गयें जिसमें जिले के शासकीय आईटीआई कॉलेज छपारा ने ग्रेडिंग में निर्धारित 5 अंक में से 3.50 अंक प्राप्त करके सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया। उक्ताशय की जानकारी प्राचार्य शासकीय आईटीआई कॉलेज छपारा नलिन तिवारी ने गुरूवार की देर शाम को दी है।
उन्होनें बताया कि विगत दिनों भारत सरकार के कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय ने देशभर में प्रशिक्षण की गुणवत्ता और छात्र छात्राओं के सर्वांगीण विकास हेतु किये गये प्रयासों की जांच हेतु अखिल भारतीय स्तर पर विभिन्न मापदंड निर्धारित कर ग्रेडिंग सिस्टम तैयार किया है। जो कि स्केल 0 से 5 पर आधारित है। ताकि देश की सभी आईटीआई कॉलेज के मध्य तुलनात्मक रूप से मानक स्थापित हो सके एवं एक बेहतर कौशल परस्थितिकीय तंत्र की स्थापना की जा सके। आईटीआई में विभिन्न योजनाओ को लागू करने के लिए ग्रेडिंग एक महत्वपूर्ण व अनिवार्य घटक है।
संस्था के ग्रेडिंग नोडल अधिकारी संजय उइके ने बताया कि सर्वाधिक रेटिंग प्राप्त करने पर कॉलेज प्राचार्य नलिन तिवारी को राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तर पर सम्मानित किया जाएगा तथा एनएसटीआई अथवा विदेश में प्रशिक्षण प्रदाय किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कॉलेज प्रबंधन के अदम्य इच्छाशक्ति एवं लालसा के बल पर ही संभव हो पाया है। दूरस्थ सुनसान पहाड़ी एवं मूलभूत सुविधाओं के अभाव के बीच भी कार्य करते हुए प्राचार्य ने संस्था को सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में पहले स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है।
बताया गया कि नलिन तिवारी की पदस्थापना के पूर्व कॉलेज में मात्र दो ट्रेड थे और वे भी एससीवीटी के तहत संचालित थे। वर्तमान में कॉलेज के सभी 6 ट्रेड एनसीवीटी से मान्यता प्राप्त हैं। इससे यहाँ प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले छात्र छात्राओं को सम्पूर्ण भारत में निजी एवं शासकीय संगठन में कार्य करने का अवसर प्राप्त हो रहा है।
हिन्दुस्थान संवाद