सिवनी, 11 अक्टूबर ।   प्रदेश स्तर पर कुपोषण के विरुद्ध चलाये जा रही बाल आरोग्य  योजना की मंशानुरूप जिलें को कुपोषण मुक्त करने की दिशा में कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग के मार्गदर्शन में आगामी 13 अक्टूबर को 72 चिन्हांकित स्थानों में शिविरों का आयोजन कर बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन किया जाएगा तथा रोगोपचार के लिए आवश्यक दवाईयां उपलब्ध कराई जाएगी। वहीं अतिआवश्यकता वाले बच्चों को एनआरसी में भर्ती करने की कार्यवाही करने के साथ ही ऐसे बच्चों को आगामी समय में भी निगरानी में रखा जाएगा। इस अभियान के बेहतर क्रियांवयन को लेकर कलेक्टर डॉ फटिंग द्वारा 11 अक्टूबर को महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग के साथ ही अन्य संबंधित विभाग की बैठक लेकर तैयारियों की समीक्षा की गई तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। उन्होंने शिविर स्थल पर सभी जरूरी व्यवस्थाऐं सुनिश्चित करने के साथ ही अन्य विभागों के पात्र हितग्राहियों को शिविर में लाभांवित करने के निर्देश दिए गए।

       कलेक्टर डॉ फटिंग ने आयुष विभाग को बच्चों के लिए प्रतिरोधक दवाईयाँ, उद्यानिकी विभाग को मुनगे के पौधे, पशु पालन एवं कृषि विभाग को बच्चों के परिजनों को पात्रतानुसार योजना का लाभ देने के साथ आयुषमान कार्ड बनाए जाने तथा पात्रता पर्ची वितरण की व्यवस्था उक्त शिविर में सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। 

हिन्दुस्थान संवाद