सिवनी, 24 जून। जिले के विकासखंड लखनादौन के अंतर्गत उपस्वास्थ्य केंद्र सहजपुरी में पदस्थ एएनएम प्रीति वासनिक तथा उपस्वास्थ्य केंद्र जोगीगुफा सेक्टर गनेशगंज में पदस्थ एएनएम सरोज परते अपने-अपने क्षेत्र में कोरोना काल मे पूरी लगन और निष्ठा के साथ सेवाएं दे रही है तथा वर्तमान में भी टीकाकरण कार्यो में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।
एएनएम प्रीति वासनिक ने बताया कि कार्य के दौरान वे स्वयं कोरोना से संक्रमित हो गई थी। जिससे परिवार में भयावह की स्थिति हो गई थी। संक्रमण गंभीर होने पर मुझे जिंदल हॉस्पिटल सिवनी में उपचार हेतु भर्ती होना पड़ा लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण बाद में शासकीय सिविल अस्पताल में भर्ती हुई। पांच दिन लगातार उपचार के बाद स्वास्थ्य में सुधार आया तत्पश्चात अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।
प्रीति वासनिक ने बताया कि घर पर ही कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उन्होनें कोरोना को मात दी एवं पुनः अपने कार्य पर उपस्थित हुई। तथा वर्तमान में नई उर्जा के साथ कोविड-19 टीकाकरण एवं अन्य कार्य संपादित कर रही है।
इसी प्रकार उपस्वास्थ्य केंद्र जोगीगुफा सेक्टर गनेशगंज में विगत 10 वर्षो से पदस्थ एएनएम सरोज परते अपनी लगन और सेवाभाव के साथ सेवाए दे रही है। एएनएम सरोज परते को हार्ट की परेशानी है बावजूद इसके वे अपने दायित्वों का निर्वहन बखूबी कर रही है। इनके परिवार में एक पुत्र है जिसकी आयु लगभग 01 वर्ष है । परिवार में बच्चे को संभालने वाला कोई नही है जिसके कारण इनका पुत्र ड्यूटी के दौरान साथ में रहता है। ऐसी परिस्थिति मे जो भी कार्य इन्हे प्राप्त होता है साहस से कार्य करते हुए कार्य संपादित कर रही है।
हिन्दुस्थान संवाद