सिवनी, 12नंवबर। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सिवनी श्री पार्थ जैसवाल द्वारा आज जनपद पंचायत घंसौर के सभाकक्ष में समीक्षा की गई। समीक्षा बैठक में मनरेगा प्रभारी जिला पंचायत सिवनी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत घंसौर, समस्त उपयंत्री, ब्लाक समन्वयक आवास एवं एसबीएम, ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक उपस्थित थे। बैठक के दौरान सीएम हेल्पलाइन, आवास योजना के अंतर्गत निर्मित किये जा रहे आवासों एवं मनरेगा योजना के अंतर्गत लेबर बजट, आधार शीडिगं, मोबाइल मानीटिरंग सिस्टम एवं अपूर्ण कार्यो की विस्तृत समीक्षा की गई।

  मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जैसवाल द्वारा योजनाओं में प्रगति लाने के लिये बार-बार निर्देशित करने के बाद भी योजनाओं में प्रगति नहीं लाने, कार्यो के प्रति लापरवाही बरतने के कारण जनपद पंचायत के 4 उपयंत्री श्री जयदीप पन्द्रे, श्री जगदीश उइके, श्री अर्जुन उइके एवं श्री दादूराम डहेरिया का माह नवम्बर 2021 का आगामी आदेश तक वेतन रोके जाने की कार्यवाही की गई। इसी प्रकार जनपद पंचायत घंसौर के 5 पंचायत सचिव जिनमें श्री लोटनसिंह कुलेश ग्राम पंचायत मूंडापार, श्री इंदराम झारिया ग्राम पंचायत मोहगांव, श्री श्रवण कुमार बैरागी ग्राम पंचायत सालीवाडा, श्री हेमराज मर्राया ग्राम पंचायत सर्रा एवं श्री कमलेश गुमास्ता ग्राम पंचायत धनवाही को माह नवम्बर 21 का 10 दिवस का अवैतनिक किया गया।  पंचायत समन्वय अधिकारी श्री पूरन सिंह उइके एवं श्री सनत जैन कर माह नवम्बर 21 का  वेतन आगामी आदेश तक रोका जाने हेतु आदेशित किया गया ।

  ग्राम पंचायत सचिवों की प्रगति अत्यंत न्यून एवं कार्य असंतोषजनक पाये जाने के कारण ग्राम पंचायत सचिव श्री दीपेश कुलस्ते ग्राम पंचायत ब्यौहारी, श्री डुमारीलाल बलारी, ग्राम पंचायत पाटन एवं श्री रजेसिंह ग्राम पंचायत पददीकोना जनपद पंचायत घंसौर को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया। बैठक में अनुपस्थित 8 सचिव एवं 7 रोजगार सहायकों के माह नवम्बर 21 के वेतन पर रोक लगाकर समक्ष में उपस्थित होकर जबाव प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया गया।   

हिन्दुस्थान संवाद

error: Content is protected !!