किल कोरोना अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन के अधिकारियों को दिये निर्देश
सिवनी, 26 अप्रैल। जिलें के सभी क्षेत्र में जनता कर्फ्यू का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाये, ग्रामों में कोरोना संक्रमण का फैलाव न हो इसलिए ग्राम पंचायतों में प्रस्ताव पारित कर प्रत्येक ग्राम की सीमा सील करते हुए बाहरी व्यक्तियोँ का प्रवेश प्रतिबंधित की जाये यह निर्देश कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग में सोमवार 26 अप्रैल को सभी अनुविभागीय अधिकारियों, तहसीलदारों, सीईओ जनपद पंचायतों एवं सेक्टर अधिकारी के रूप में नियुक्त जिला एवं विकासखण्ड स्तर के अधिकारियों को दिये।
उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए आवश्यक हैं कि संक्रमण की चैन तोड़ी जाये, जिसके लिए जनता कर्फ्यू का प्रभावी क्रियान्वयन किया हो, कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों पर दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।
कलेक्टर डॉ फटिंग ने विकासखण्डवार एवं सेक्टरवार अधिकारियों से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या एवं उनके उपचार की व्यवस्था, वैक्सीनेशन तथा अन्य बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सभी सेक्टर अधिकारी सतत रूप से अपने ग्रामों का भ्रमण करते हुए कर्फ्यू के प्रभावी क्रियान्वयन कर संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही करें। होम आइसोलेट मरीजों की कोविड कमांड सेंटर के अतिरिक्त मैदानी अमले द्वारा भी सतत निगरानी रखी जाए, सभी मरीजों को मेडिसिन किट की उपलब्धता रहें। कोरोनटाइन, आइसोलेट व्यक्ति एवं उनके परिवारजन घरों से बाहर न निकले यह सुनिश्चित किया जाये। ऐसे मरीज जिनके घरों में सुरक्षित होम आइसोलेशन की व्यवस्था नही हैं, उन्हें संस्थागत कोरोनटाइन कराया जाये।
डॉ फटिंग ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रत्येक ग्राम में किल कोरोना अभियान का प्रभावी क्रियान्वयन करते हुए प्रत्येक व्यक्ति का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाये। सर्वे में संदिग्ध पाए गए व्यक्तियों को होम आइसोलेट करते हुए उनका कोविड टेस्ट कराया जाये। इस दौरान संक्रमण के हॉट स्पॉट का चिन्हांकन कर उसे पूरी तरह सील किया जाए। उस क्षेत्र में लोगो को आवाजाही पूरी तरह प्रतिबंधित किया रहें यह सुनिश्चित किया जाये। कोविड वैक्सीनेशन की समीक्षा करते हुए कलेक्टर डॉ फटिंग ने वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने के निर्देश दिये। जिसके लिए वैक्सीनेशन शिविरो के आयोजन एवं इसके ग्राम स्तर में मुनादी एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों से समन्वय करते हुए प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिये गये।
हिन्दुस्थान संवाद