सिवनी, 24 अप्रैल। जिले में अब तक कुल 87466 संदिग्ध व्यक्तियों के नमूने जांच हेतु लिए गए हैं। जिसमें से 4243 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये गए हैं। जिनमें 3321 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में कोरोना के 905 एक्टिव केस हैं। जिनमें से 766 मरीज होंम कोरोनटाइन हैं। जिनकी मॉनिटरिंग कोविड़ कमांड एवं कंट्रोल सेंटर से की जा रहीं।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ के.सी. मेश्राम ने शनिवार को जानकारी दी कि विगत दिवस कुल 63 कोरोना मरीज स्वस्थ हुये हैं, वही 148 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज विगत दिवस प्राप्त रिपोर्ट मे पाये गए हैं।


प्रत्येक व्यक्ति वैक्सीनेशन अवश्य कराएं- कलेक्टर डॉ. फटिंग


जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ लोकेश चैहान ने बताया कि भारत की कोविड- 19 वैक्सीन कारगर साबित हुई हैं। वैश्विक कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए सम्पूर्ण देश मे कोविड वैक्सीनेशन का अभियान चलाया जा रहा हैं। कोविड संक्रमण की इस दूसरी लहर के दौरान में यह तथ्य सामने आया है कि वैक्सीनेशन करवाने वाले व्यक्तियों के संक्रमण का प्रभाव अन्य मरीजों की तुलना में कम दिखाई दिया हैं साथ ही रिकवरी रेट भी अन्य मरीजों की तुलना में अधिक पाया गया हैं। उन्होंने बताया कि द्वितीय डोज लेने के निर्धारित दिनों के उपरांत लोगो मे वायरस के प्रति एंटीबॉडी निर्मित हो जाती हैं। जो संक्रमण की रोकथाम में सहायक हैं।
कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग ने बताया कि भारत में निर्मित कोविशील्ड तथा कोवेक्सीन दोनो ही पूर्णतरू सुरक्षित एवं कारगर है। यह टीका हेल्थकेयर वर्कर, फ्रंट लाइन वर्कर तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को लगाया जा रहा है। यह टीके प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा शासन द्वारा जारी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए लगाया जाता है। उन्होंने जिले के 45 वर्ष से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति से अपील की है कि वह नजदीकी टीकाकरण केंद्र जाकर अपना टीकाकरण अवश्य करवाये। कोरोना कर्फ्यू के दौरान भी आम जनों को कोविड टीकाकरण हेतु आने-जाने की छूट प्रदान की गई है।
हिन्दुस्थान संवाद