सिवनी, 13 फरवरी। केन्द्र सरकार द्वारा लागू 3 कृषि कानूनों  के विरोध में जिला कांग्रेस सिवनी द्वारा शनिवार की सुबह जिला मुख्यालय से लगे ग्राम खैरी से किसान संघर्ष पदयात्रा निकाली गयी जिसका जगह-जगह भव्य स्वागत किया गया।

जिला कांग्रेस के प्रवक्ता राजिक अकील ने शनिवार की शाम को जानकारी देते हुए बताया कि जिला मुख्यालय से लगे ग्राम खैरी टैक में जिले के कांग्रेसी एकत्रित हुए और किसान संघर्ष पदयात्रा का प्रांरभ किया गया है इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजकुमार खुराना, वरिष्ठ कांग्रेसी आशुतोष वर्मा, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष जितेन्द्र सनोडिया ने उपस्थित आमजन को सम्बोधित करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये 3 कृषि कानून अनावश्यक किसानों पर थोपे गये है जिस प्रकार जमीदारों और राजा-महाराजाओं से ईस्टइंड़िया कम्पनी ने जमीन हथिया ली थी उसी प्रकार इस कानून से किसानों की जमीन उद्योगपतियों के हाथों में चली जायेगी। किसानों को अपनी फसल के दाम बराबर नही मिल पायेंगे, वर्तमान में हम मक्के की कीमत से ही अंदाजा लगा सकते है, फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य प्राप्त नहीं होगा असीमित भंण्डार से खाद्य सामाग्रीयों की कीमतों में बेेतहाशा वृद्धि होगी मंहगाई पर अंकुश लगाना कठिन होगा, किसानों के लिये लाये गये बिलो का विरोध किसान कर रहें है तो केन्द्र सरकार को किसानों की बात को मानते हुये यह बिल तत्काल वापस ले लेना चाहिए।


बताया गया कि पद यात्रा ग्राम खैरी टेक से प्रारंभ होकर सिमरिया, पलारी, चांवडी पंहुचे ग्रामीण जनों ने किसान संघर्ष पदयात्रा का जगह जगह भव्य स्वागत किया गया। किसान संघर्ष पदयात्रा में अखिल भारतीय कांग्रेस सचिव सिवनी प्रभारी सी पी मित्तल, निवास विधायक सिवनी प्रभारी अशोक मर्सकोले बरघाट विधायक अर्जुनसिंह काकोड़िया, लखनादौन विधायक योगेन्द्रसिंह बाबा, प्रदेश कांग्रेस सेवादल मुख्यसंगठक ठा. रजनीशसिंह, मो. असलम खान, मोहनसिंह चंदेल, राजा बघेल, ब्रजेशसिंह लल्लू बघेल, वरिष्ठ कांग्रेसी मंगलप्रसाद कश्यप, शिवराम सनोडिया, संतकुमार डहेरिया सहित बडी संख्या में कांग्रेस जन उपस्थित रहें।
हिन्दुस्थान संवाद

error: Content is protected !!