कान्हा टाइगर रिजर्वः बाघों की आपसी लड़ाई में नर बाघ की हुई मौत

भोपाल, 14 फरवरी। कान्हा टाइगर रिजर्व, मण्डला में शनिवार को शाम की गश्ती के दौरान परिक्षेत्र किसली के कोपेडवरी बीट के कक्ष आर.एफ. 698 में एक नर बाघ का शव मिला। नर बाघ के शरीर में अगले दाँयें पैर में केनाईन के निशान और पसली टूटी हुई पाई गई। बाघ की मृत्यु प्रथम दृष्ट्या किसी वयस्क बाघ द्वारा आपसी लड़ाई के कारण प्रतीत है।

फाईल फोटो

कान्हा टाइगर रिजर्व मण्डला के क्षेत्र संचालक ने बताया कि अधिकारियों के दल द्वारा घटना स्थल पर मुआयना किया गया। बाघ का शव 4 से 6 दिन पुराना था। नर बाघ के शव पर सभी पंजे, नाखून एवं दाँत मौजूद थे।

मृत नर बाघ का शव परीक्षण एनटीसीए प्रोटोकाल के अनुसार कान्हा टाइगर रिजर्व के वन्य-प्राणी चिकित्सक डॉ. संदीप अग्रवाल एवं एनटीसीए के प्रतिनिधि और अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में किया गया। इसके आवश्यक अंग फोरेंसिक जाँच के लिये सुरक्षित रखकर शव को जला दिया गया।

हिन्दुस्थान संवाद

follow hindusthan samvad on :

Leave a Reply

Your email address will not be published.