भोपाल, 15 फरवरी। भोपाल के स्व सहायता समूह तीज-त्यौहार और विशेष अवसरों पर अपनों को अपना सा उपहार देने के लिए लगातार “वोकल फॉर लोकल” की अवधारणा को चरितार्थ कर रहे हैं। महिलाओं की आत्म निर्भरता से भोपाल को आत्म निर्भर बनाने के लिए आस्था स्व सहायता समूह परवलिया और श्री गणेश स्व सहायता समूह रूनाहा ने नई पहल कर बसंत पंचमी पर पूजन और उपहार के लिए 55 सामग्रियों को संग्रहित कर “रंग दे बसंती हेम्पर” बनाया है। यह हेम्पर ऑनलाईन उपलब्ध है।   

उल्लेखनीय है कि माघ मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन ज्ञान और वाणी की देवी माँ सरस्वती के पूजन का विशेष महत्व होता है। ऐसी मान्यता है कि इस तरह पूजन से ज्ञान, बुद्धि-विवेक के साथ विज्ञान, कला और संगीत सहित हर पुरूषार्थ में सिद्धि प्राप्त होती है।   इस अवसर को और विशेष बनाने के लिए दोनों स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा “रंग दे बसंती गिफ्ट हेम्पर” बनाया गया है इसमें सरस्वती पूजन की सामग्री शुद्धता और गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा गया है। आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के सपने को साकार करने और महिला सशक्तिकरण में योगदान के लिए स्व-सहायता समूहों की महिलाओं ने आम नागरिकों से अपील की है कि बसंत पंचमी पर अपनों को रंग दे बसंती गिफ्ट हेम्पर उपहार स्वरूप भेंट करें।    इस हेम्पर में पूजन की सामग्री, पुस्तिका, चंदन, अगरबत्ती, हल्दी, कपूर, नारियल, शहद, सिंदूर, कलावा पीलावस्त्र, जनेऊ, लालवस्त्र, हवन सामग्री, गो-दीपक, गो-कंडे, गो-धूपबत्ती, दीप बत्ती, गंगाजल, घी, गुलाब जल, मास्क, इत्र, रंग दे बसंती डलिया, कुमकुम, चावल सहित 55 वस्तुएं शामिल हैं।

हिन्दुस्थान संवाद

error: Content is protected !!